भागलपुर [जेएनएन]। विश्व हिंदू परिषद् ने अपने कार्यकर्ताओं को कई स्थानों पर अनावश्यक रूप से मुकदमे में फंसाए जाने की घटना का विरोध किया है। प्रखंड और जिला के प्रतिनिधि संबंधित अधिकारियों के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन देंगे।

यह निर्णय विहिप की दक्षिण बिहार की प्रांतीय कार्यसमिति बैठक में लिया गया। बैठक सासाराम में हुई थी। बैठक में भागलपुर से विभाग मंत्री पारस शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल सासाराम गया था। जिसमें दो ग्रामीण जिला सह मंत्री, एक महानगर सह मंत्री और एक बजरंग दल के महानगर के दायित्ववान कार्यकर्ता सम्मिलित थे।

बैठक में दक्षिण बिहार के बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं को कई स्थानों पर अनावश्यक रूप से मुकदमे में फसाए जाने की घटना के शांतिपूर्ण विरोध करने का प्रस्ताव पारित हुआ। समापन सत्र में विहिप के केंद्रीय उपाध्यक्ष जगन्नाथ शाही और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय कार्यवाह (बिहार - झारखंड) मोहन सिंह उपस्थित थे। विहिप के केंद्रीय उपाध्यक्ष ने असहिष्णुता और मॉब लिंचिंग के विषय को विस्तार से उठाया। इसे देश के बहुसंख्यक समाज को अपमानित करने का षड्यंत्र बताया। बैठक में क्षेत्रीय मंत्री वीरेंद्र विमल ने केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक (जो कि जम्मू में हुई थी) में पारित प्रस्तावों के विषय में जानकारी दी।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस