जागरण संवाददाता, सहरसा। पटना जाने के क्रम में विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरएन सिंह (VHP National President RN Singh) सहरसा पहुंचे। इस दौरान वे पत्रकारों से मुखातिब हुए। दुर्गा मंदिर गांधी मैदान में उन्होंने कहा कि मतांतरण पर रोक के लिए व्यापक कानून बनाए जाने की जरूरत है। मतांतरण विकराल रूप लेता जा रहा है।

विहिप राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि विगत 17 जुलाई को फरीदाबाद में आयोजित विहिप की राष्ट्रीय बैठक में मुख्य रूप से दो प्रस्ताव पारित किया गया है, जिसे सरकार के ध्यानार्थ भेजा गया है। पहला कि मतांतरण पर रोक के लिए व्यापक कानून बने और दूसरा कि मठ-मंदिरों का सरकारीकरण बंद हो। मठ-मंदिरों की जो आमदनी होती है वह सरकार ले लेती है जिसे दूसरे धर्मों पर खर्च कर दिया जाता है। वह पैसा वहीं रहे। बड़े-बड़े मंदिरों पर जो चढ़ावा आवे वह वहीं रहे, वहां समिति बना दिया जाए, भले सरकारी नियंत्रण रहे इस पर न कोई आपत्ति है और न ही कोई समस्या है। लेकिन उस आमदनी से उस मंदिर का कार्य हो, वेद-पाठशाला खुले, भंडारा हो।

उन्होंने कहा कि ये राशि मंदिर के जीर्णोद्धार में काम आवे। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मतांतरण रोकने के दो-तीन तरीके हैं। पहला तो अशिक्षा को दूर करना होगा। हमारे समाज में जो विकेंद्रीकरण हो गया है वही बड़ी समस्या है। हिंदू न होकर हम जो जात में बंट गए हैं ये ही सबसे बड़ी समस्या है। जरूरत है कि हम खुद अपने आपको मजबूत करें। हमें समाज में जागरूकता लाने की जरूरत है। मौके पर विहिप के जिलाध्यक्ष रमण कुमार सिंह, प्रांत सेवा प्रमुख चंद्रकांत झा,प्रवीण कुमार चौधरी, अशर्फी दास सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

ये भी पढ़ें :  विहिप के राष्ट्रीय अध्यक्ष के बारे में, बिहार के सहरसा में है निज निवास

ये भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में हुए आतंकी हमले में बिहार के कटिहार के मजदूर की मौत, गांव में मातमी चित्कार

Edited By: Shivam Bajpai