भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर जिले के नाथनगर से जदयू और बांका जिले के बेलहर से राजद की जीत पर विभिन्‍न दलों के नेताओं के प्रतिक्रिया दी है।

मेरी जीत मोदी-नीतीश के आशीर्वाद की जीत है। जदयू, भाजपा, लोजपा के कार्यकर्ताओं के साथ-साथ नाथनगर की जनता की जीत है। मैं सरकार की विकास योजनाओं को क्षेत्र में तेजी से कराएंगे। क्षेत्र का तेजी से विकास होगा। - लक्ष्मीकांत मंडल, निर्वाचित जदयू प्रत्याशी

दो बूथों पर गड़बड़ी होने के कारण हमारी हार हुई है। जनता ने मुझे पूरा समर्थन दिया। जनता के भरोसे को टूटने नहीं देंगे। नाथनगर की जनता के लिए काम कर रहे थे और आगे भी काम करती रहूंगी। - राबिया खातून, राजद प्रत्याशी

एक ईवीएम के बक्से का पर्ची निकल गया था, लेकिल सील लगा था। सभी के सामने खोला गया। किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं हुई है। मतदान और मतगणना शांतिपूर्ण संपन्न हुई है। - राजेश झा राजा, निर्वाची पदाधिकारी

नाथनगर विधानसभा उपचुनाव में जीत कार्यकर्ताओं की जीत है 

नाथनगर विधानसभा क्षेत्र में सम्पन्न हुए उपचुनाव में जनतादल यूनाइटेड के प्रत्याशी लक्ष्मीकांत मंडल की जीत कार्यकर्ताओं की जीत है। धनबल के ऊपर नैतिकता, सादगी एवं ईमानदारी की जीत है। उम्मीद है केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे जनकल्याण की नीतियों को विधायक के रूप में लक्ष्मीकांत मंडल सुचारू रूप से लागू करवा पाएंगे एवं जनता की आकांक्षा एवं उम्मीद पर खरे उतरेंगे। लक्ष्मीकांत मंडल निष्ठावान कार्यकर्ता हैं। नाथनगर से बेहतर उम्मीवार होने के कारण लोगों को लक्ष्मीबाबू को जिताया है। - रोहित पांडेय, जिलाध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी, भागलपुर 

बिहार में हुए विधानसभा उपचुनाव परिवारवाद के खिलाफ रहा है। पार्टी अच्छे कार्यकर्ताओं को टिकट दे तभी जीत संभव है। पैसे के बल पर चुनाव जीत जाना और टिकट प्राप्त कर लेना, यह अब नहीं चलेगा। - दिलीप निराला, जिला उपाध्यक्ष, भाजपा, भागलपुर 

उपचुनाव में जीत पर मंडल को बधाई : नाथनगर उपचुनाव में जदयू की जीत पर लक्ष्मीकांत मंडल को बधाई दी गई है। जिला परिषद के अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह, मेयर सीमा साहा, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष नभय कुमार चौधरी, मेयर प्रतिनिधि प्राणिक वाजपेयी, प्यारे हिन्द, विजय कुशवाहा, भाजपा जिला उपाध्यक्ष संतोष कुमार आदि ने बधाई दी है। यह जीत एनडीए सरकार के बेहतर शासन और प्रबंधन पर मिली है।

बेलहर में सामाजिक न्याय की जीत

जीत के बाद राजद प्रत्याशी रामदेव यादव ने कहा कि बेलहर में सामाजिक न्याय की जीत हुई है। उसे सभी जाति-वर्ग और धर्म के वोट मिले हैं। यह जीत जनता को समर्पित है। बेलहर की जनता ने सत्ता के घमंड और परिवारवाद को करारा जवाब दिया है। इस कार्यकाल के लिए उन्हें काफी कम समय मिला है, लेकिन जनता की सेवा के लिए वे हर कदम पर उनके साथ रहेंगे। बिहार में नीतीश सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। जनता ने परिणाम से ये बता दिया है। अब बिहार से निक्कमी सरकार को उखाड़ फेंकने का काम होगा।

को-ऑपरेटिव बैंक के पूर्व अध्यक्ष सह कांग्रेस नेता जितेंद्र सिंह ने कहा कि बेलहर की जीत ने बड़ा संदेश दिया है। जनता के मतों ने साबित कर दिया है कि वे नीतीश कुमार के कामकाज से खफा हैं। जनता के अंदर ठप विकास कार्यों की खीज है। वे आने वाले विधानसभा चुनाव में सभी सीटों से एनडीए प्रत्याशी को उखाड़ फेकेंगे। कार्यकर्ताओं की मेहनत ने रंग लाया। अमरपुर विधानसभा के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी राकेश कुमार सिंह ने कहा कि सत्ता के नशे में चूर लोगों को परिणाम से सबक लेनी चाहिए। विकास के बदले झूठा सपना दिखा कर लोगों को अधिक समय तक नहीं बरगलया जा सकता है। कांग्रेस के जिलाध्यक्ष संजीव कुमार ङ्क्षसह ने कहा कि बेलहर जीत ने बिहार में एनडीए की नींव हिलने का संकेत दे दिया है। बिहार विधानसभा चुनाव के बाद बिहार में महागठबंधन की सरकार बनेगी। शंभूगंज के पूर्व प्रमुख सुमन सिंह, रालोसपा नेता तंजा सिंह, रालोसपा जिलाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह मंटू आदि ने जीत पर खुशी का इजहार किया है।

पूर्व विधायक ने जताई खुशी

कटोरिया के पूर्व विधायक भोला प्रसाद यादव ने बेलहर उपचुनाव में राजद उम्मीदवार रामदेव यादव की जीत पर खुशी प्रकट की है। उन्होंने कहा कि बेलहर की जनता ने राजग गठबंधन को पूरी तरह से नकार दिया है। आने वाले चुनाव में भी भाजपा और जदयू का हाल और बुरा होने वाला है। जनता ने अच्छे सिपाही को चुना है, जो बेलहर का विकास करेंगे। उन्होंने कहा कि राजद की जीत से लालू-राबड़ी का संगठन और मजबूत होगा।

परिवारवाद के खिलाफ हुआ मतदान

बेलहर उपचुनाव में जदयू के लालधारी यादव की हार और राजद के रामदेव यादव की जीत से यह स्पष्ट हो गया कि बेलहर विधानसभा के मतदाताओं को परिवारवाद रास नहीं आया। इसी से आक्रोशित मतदाताओं ने राजद के पक्ष में मतदान किया। पूर्व प्रमुख पलटन प्रसाद यादव का सांसद से मोहभंग होना भी एक बड़ा कारण हार का बना। बांका जिले के बेलहर सीट पर लगातार कई चुनाव से जदयू की काफी मजबूत पकड़ थी। गिरिधारी यादव के सांसद बनने के बाद खाली हुई सीट उनकी प्रतिष्ठा की सीट मानी जाती थी। इस चुनाव में भाजपा ने भी जदयू को सिर्फ प्रचार तक ही साथ दिया।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस