संवाद सहयोगी, भागलपुर। बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर के मीडिया सेंटर द्वारा निर्मित फिल्म उम्मीद ए होप... का चयन पांचवें राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल अवार्ड के लिए हुआ है। 21 मिनट की इस फिल्म का थीम बांका एवं किशनगंज जिले के आदिवासी समुदाय के बदलते जीवन शैली पर आधारित है। उक्त दोनों जिलों में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जनजातियों के विकास के लिए एक उपयोजना चलाई गई थी, इससे उनके जीवन में नई चेतना का संचार हुआ है। वे नई उम्मीदों के साथ विकास की दिशा में अपना कदम आगे बढ़ा रहे हैं। विवि प्रशासन ने राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान हैदराबाद द्वारा आयोजित किए जा रहे उक्त फिल्म फेस्टिवल अवार्ड के लिए अपनी फिल्म उम्मीद ए होप की इंट्री तीन नवंबर को कराई थी, जिसके चयन से यहां हर्ष का माहौल है।

बहुत जल्द आम लोगों को देखने के लिए मिलेगी फिल्म

जल्द ही इस फिल्म को जन समुदाय को देखने के लिए यूट्यूब पर अपलोड कर दिया जाएगा। मीडिया सेंटर द्वारा आम लोगों के अलावा किसानों के लिए तकनीकी वीडियो, किसानों की सफलता की कहानी और सरकारी योजनाओं पर आधारित फिल्म का भी निर्माण किया जाता है। वीडियो कॉन्फ्रेंस‍िंग और युवाओं के लिए आनलाइन ट्रेनिंग भी कराई जाती है। सेंटर के अधीन कार्यरत सामुदायिक रेडियो 90.8 एफएम ग्रीन भी जनहित में विभिन्न कार्यक्रमों का प्रसारण कर रहा है। जैसे उन्नत कृषि, लेडीज फस्र्ट और स्वस्थ रहें आदि। इसके अलावा प्रायोजित कार्यक्रमों का भी यहां से प्रसारण होता है।

बता दें कि सूचना संचार एवं तकनीकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए पूर्व में भी मीडिया सेंटर बीएयू को ई गवर्नेंस, स्कॉच और कई अवार्ड से नवाजा जा चुका है। इसके अलावा यूट्यूब द्वारा सिल्वर बटन अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है।

इन्होंने इस फिल्म निर्माण में निभाई महती भूमिका

  • -प्रभारी पदाधिकारी मीडिया सेंटर, फिल्म शोधकर्ता - डा. एस पाटिल
  • -सह निर्देशक -मनीष कुमार स‍िंह
  • -स्क्रिप्ट - अभिजीत विश्वास व अमरेंद्र कुमार तिवारी
  • -सिनेमेटोग्राफर - संदीप कुमार तिवारी
  • -वीडियो संपादक - ब्रजेश कुमार तिवारी
  • -आवाज - डा. टी चट्टोपाध्याय
  • - ड्रोन आपरेटर - इंजीनियर शालिग्राम यादव
  • - आडियो रेकार्डर - अनु व शालिग्राम

राष्ट्रीय स्तर पर अवार्ड के लिए फिल्म का चयन होना राज्य भर के लिए गौरव की बात है। इस पुरस्कार के मिलने से विश्वविद्यालय का मान देश में बढ़ेगा। - डा. अरुण कुमार, कुलपति बीएयू सबौर

बीएयू के मीडिया सेंटर ने अपनी उत्कृष्ट कार्य की छाप छोड़ी है। राष्ट्रीय अवार्ड के लिए यहां निर्मित फिल्म का चयन होना बेहतर कार्य को दर्शाता है। यह सेंटर धीरे धीरे फिल्म उद्यम का केंद्र बनेगा। - डा. आरके सोहने, निदेशक प्रसार शिक्षा बीएयू सबौर

Edited By: Dilip Kumar Shukla