भागलपुर (जेएनएन)। नाथनगर में चंपा नदी और एनएच 80 को नगर निगम ने डंपिंग ग्राउंड में तब्दील कर दिया है। अब यही कूड़ा शहरवासी के लिए जानलेवा बन गई है। चंपा पुल के समीप करीब आधा किलोमीटर के क्षेत्र में कूड़े के ढेर में आग लगा दी गई। इससे उठे रहे धुंए से लोगों का दम घुटने लगा। चंपानगर, बाईस बिग्घी, मिर्जापुर और मथुरापुर के क्षेत्र इससे अधिक प्रभावित हुई है। आग कैसे और किन्होंने लगाई, यह पता नहीं चल सका है। लेकिन कहा जा रहा है कूड़े से मुक्ति के लिए उसमें आग लगाई गई थी।

मंगलवार को डिप्टी सीएम सुशील मोदी का काफिला पटना के लिए धुंए के बीच से होकर गुजरा। पुल से गुजरने में जहां एक ओर डिप्टी सीएम के काफिला को गुजरने में काफी मशक्कत करना पड़ा। वहीं वाहन चालकों को सड़क पर एक मीटर की दूरी आगे तक नहीं दिख रहा है। इससे दुर्घटना की संभावना बढ़ गई है। वाहनों चालकों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। चंपानगर मोहल्ले के लोगों ने मेयर सीमा साह को समस्या से अवगत कराया। इसको लेकर नगर आयुक्त को आवश्यक कदम उठाने का निर्देश भी दिया।

दरअसल डिप्टी सीएम की वजह से सुबह आठ बजे से नगर निगम ने 20 टैंकर पानी भेजकर आग पर काबू पाने का प्रयास किया। देर शाम तक जेंटिंग मशीन से भी आग बुझाने के लिए निगम की टीम मशक्कत करती रही। इसके बावजूद सफलता नहीं मिल सकी है। कूड़े में आग की वजह से स्थानीय लोग आक्रोशित है। लोगों ने निगम के कूड़ा वाहन को चंपानगर में ही रोक दिया। इस दौरान निगम के सफाई कर्मचारियों को देख लोग उग्र हो गए।

नगर आयुक्त श्याम बिहारी मीणा ने कहा कि आज से कनकैथी में कूड़ा गिराने के लिए स्वयं डंपिंग ग्राउंड का निरीक्षण करेंगे। यहां तक पहुंचने के लिए रास्ता की समस्या है। चंपा पुल का भी स्थल निरीक्षण करेंगे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस