जागरण संवाददाता, भागलपुर। तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) द्वारा आज पीजी नामांकन के लिए पहली सूची प्रकाशित की जाएगी। हालांकि नामांकन के लिए करीब 5500 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। जिसमें से करीब 854 छात्रों ने अपने आवेदन में अंक का उल्लेख नहीं किया है। जिससे प्रथम मेधा सूची बनाने में दिक्कत आ रही है। रविवार को नामांकन समिति की ऑनलाइन बैठक हुई। जिसमें निर्णय लिया गया कि 10 प्रतिशत अतिरिक्त सीट रिजर्व रखते हुए मेधा सूची प्रकाशित की जाए।

85 प्रतिशत सही आवेदकों के आधार पर ही पहली मेधा सूची प्रकाशित की जाए। इसके लिए यूडीसीए के निदेशक को अधिकृत किया गया है। डीएसडब्ल्यू डॉ. राम प्रवेश सिंह ने कहा कि बार-बार शेड्यूल में बदलाव से नामांकन में देरी हो रही है। ऐेसे में यह निर्णय लिया गया। कुछ छात्रों की वजह से पूरी प्रक्रिया को बाधित नहीं किया जा सकता है। इस कारण यूडीसीए निदेशक को मेधा सूची तैयार करने का निर्देश दिया गया है ताकि पहली सूची प्रकाशित की जाए। जिससे नामांकन शुरू हो सके।

दरअसल कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता का निर्देश है कि नामांकन की प्रक्रिया समय से पूरी हो। जिससे कक्षाएं भी समय से शुरू हो सके। नामांकन शेड्यूल में कई बार बदलाव किया गया है। ऑनलाइन बैठक में डीएसडब्ल्यू के अलावा डीन एकेडमिक्स डॉ. अशोक कुमार ठाकुर, सीसीडीसी डॉ. केएम सिंह, यूडीसीए के निदेशक डॉ. नेसार अहमद, पीआरओ डॉ. दीपक कुमार दिनकर, यूएमआइएस के प्रतिनिधि राकेश प्रजापति, चंद्र प्रकाश, रोहित सिंह समेत अन्य मौजूद थे।

संघर्षशील अतिथि शिक्षक संघ ने चौथे दिन धरना किया समाप्त

टीएमबीयू परिसर में धरना दे रहे संघर्षशील अतिथि शिक्षक संघ ने चौथे दिन शनिवार को धरना खत्म कर लिया। वे लोग हटाए गए अतिथि शिक्षकों को 21 जून से होने वाली इंटरव्यू प्रक्रिया में शामिल करने की मांग को लेकर पिछले चार दिनों से धरना पर बैठे हुए थे। संघ के सचिव डॉ. अमलेन्दु कुमार रंजन ने कहा कि प्रॉक्टर और कुलसचिव से बहाली पर विचार करने का आश्वासन मिला है। इसी बात पर फिलहाल धरना को स्थगित किया गया है। टीएमबीयू के पीआरओ डॉ. दीपक कुमार दिनकर ने कहा कि संघ और अधिकारियों के साथ वार्ता के दौरान उन लोगों की मांगों पर विचार करने का फैसला किया गया है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla