जागरण टीम, बांका/भागलपुर। बिहार में बेखौफ बालू माफिया ने दुस्साहस की हद पार करते हुए मंगलवार की रात बांका के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (एसडीपीओ) पर लाठी-डंडे और रोड़े-पत्थर से हमला कर दिया। फायरिंग भी की गई। इसमें एसडीपीओ समेत तीन गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। घटना अमरपुर थाना क्षेत्र के जेठौर नाथ बालू घाट की है। 

पुलिस ने भी आत्मरक्षा में फायरिंग की। गोली लगने से एक युवक फंटुस यादव की मौत हुई है, हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि पुलिस की गोली से हुई या किसी अन्य की। 

 बालू घाट पर वर्चस्व को लेकर जमकर की बमबाजी

वहीं, बांका जिले में मंगलवार देर रात सदर थाना के लकड़ीकोला बालू घाट पर वर्चस्व को दो गुटों में करीब आधा दर्जन बमबारी की घटना घटी है। बालू कंपनी के द्वारा शहर के एक बालू माफिया को घाट दे देने को लेकर यह घटना घटी है। लकड़ीकोला के ही एक गुट ने सभी गाड़ी को रोक दिया था। जिसके बाद यह घटना घटी है। वैसे पुलिस मामले से इंकार कर रही है।

अवैध खनन की सूचना पर छापेमारी करने गई पुलिस टीम पर हमला

बालू घाट पर अवैध खनन की सूचना पर एसडीपीओ डीसी श्रीवास्तव खनन पदाधिकारी विजय कुमार सिंह और पुलिस बल के साथ छापेमारी को गए थे, जहां बालू माफिया उन पर टूट पड़े। पुलिसकर्मी उन्हें हमलावरों से किसी तरह बचाकर बाहर निकले और प्राथमिक उपचार के बाद देर रात भागलपुर लेकर आए। उनके सिर पर गहरी चोट है। हालत गंभीर बनी हुई है। 

डीआईजी विकास वैभव ने बताया कि एसडीपीओ और खनन पदाधिकारी बालू घाट पर छापेमारी को गए थे, जहां उन पर हमला किया गया। हमलावरों की ओर से गोली भी चलाई गई, जिस पर पुलिस ने भी आत्मरक्षा में फायङ्क्षरग की। दो लोगों को गोली लगने की सूचना है। जिस व्यक्ति की मौत हुई, यह कहना अभी मुश्किल है कि किस ओर से हुई, क्योंकि हमलावर भी गोलियां दाग रहे थे। एसडीपीओ और खनन पदाधिकारी के वाहन घटनास्थल पर फंस गए थे, जिसे एसपी ने जाकर लाया। 

हमलावरों की संख्या एक दर्जन से अधिक थी। उनलोगों ने एसडीपीओ के चालक मनीष कुमार को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। एक अन्य कर्मी भी घायल हुआ है। जब हमला हुआ तो पुलिसकर्मी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। 

बांका के एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने घायल एसडीपीओ और चालक को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर कर दिया है। घटना के बाद बांका ,अमरपुर, रजौन, बाराहाट सहित अन्य थाने की पुलिस सदर अस्पताल पहुंची।

जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने भी वहां पहुंचकर घटना की जानकारी ली। एसपी ने कहा कि प्रतिबंधित बालू घाट से हाल के दिनों में लगातार अवैध खनन की सूचना पर एसडीपीओ स्थानीय थाने की पुलिस के बिना ही छापेमारी करने पहुंच गए थे। इसी दौरान बालू माफिया ने एकजुट होकर हमला बोल दिया, जिसमें एसडीपीओ और चालक समेत पुलिस जवान भी जख्मी हैं।

घटना में शामिल बालू माफिया की पहचान की जा रही है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार किया जाएगा। डीआइजी ने एसपी से पूरी रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि पुलिस बालू माफिया से सख्ती से निपटेगी।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस