भागलपुर। जेएलएनएमसीएच के इमरजेंसी में हजारों रुपये की दवाएं मरीजों से खरीदवाई जा रही हैं। बताया गया कि महंगी दवाएं सरकार द्वारा आपूर्ति नहीं की जाती। हालांकि जो दवाएं बाहर से मंगवाई गई हैं उन दवाओं को बीएचटी पर भी अंकित किया गया है।

पूर्णिया सदर अस्पताल से बूटा ऋषि को जेएलएनएमसीएच रेफर रविवार को किया गया। मरीज को इमरजेंसी में भर्ती किया गया है। मरीज के परिजन अनसुइया देवी ने बताया कि अस्पताल से एक भी दवा नहीं मिली है। डॉक्टर पूर्जा पर दवा लिखकर बाहर से लाने के लिए कहा। 32 सौ रुपये की दवा खरीदी। 12 बजे दवा लाई, जिसमें सूई भी शामिल है, दो बजे तक नर्सो ने मरीज को सूई नहीं दी। मरीज को पेट में दर्द है।

दूसरी तरफ लकवा से पीड़ित प्रभावती देवी को दो बजे तक किसी चिकित्सक ने भी नहीं देखा था। ओम प्रकाश ने बताया कि जिस यूनिट में मां को भर्ती किया गया है उस यूनिट के चिकित्सक देखने नहीं आए। दूसरे यूनिट के चिकित्सकों ने देखने से इंकार कर दिया। दूसरी तरफ अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरसी मंडल ने कहा कि इस मामले मुझे कोई शिकायत नहीं मिली है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस