जागरण संवाददाता, अररिया। बाढ़ के पानी से बर्बाद फसल की क्षतिपूर्ति के लिए हर संभव कोशिश की जाएगी। यह बातें अररिया सांसद प्रदीप कुमार सिंह नरपतगंज में कही। उन्होंने कहा के अधिकारियों से बात कर किसानों की सरकारी स्तर पर आर्थिक मदद पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि मुसलाधार बारिश से उफनाई नदियां के कारण हजारों एकड़ में फसल बर्बाद हुआ है। जिसमें सबसे अधिक धान व सब्जी के खेती को हुई है।

वे नरपतगंज प्रखंड के पोसदहा पंचायत के मिर्जापुर वार्ड नंबर एक, दो, तीन, डुमरिया चंदा वार्ड नंबर चार, पुलहा, मधुरा उत्तर-दक्षिण अचरा माणिकपुर, लक्ष्मीपुर, पत्राहा, धुरना, अमरोरी, नवाबगंज, भागिहि खेरा, चंदा आदि क्षेत्रों का भ्रमण किया।

सांसद ने किसानों की पीड़ा गंभीरता सुना। उनकी पीड़ा सुनकर वह परेशान हो गए और हर संभव मदद पहुंचाने का भरोसा दिलाया। किसान रणधीर यादव, मो. मूर्तजा, विकास कुमार, अनवर, मो. रकीब आदि ने बताया कि हर साल यहां नदिया उफना जाती है और बड़े पैमाने पर लोगों का नुकसान होता है। कुछ तीन पहले लगातार मुसलाधार बारिश के कारण नदियों के जल स्तर में एकाएक बृद्धि हो गई और सैकड़ों एकड़ में लगे धान व सब्जी की फसल को भारी नुकसान हुआ।

वहीं अन्य किसानों ने अपनी पीड़़ा सुनाते हुए कहा कि कर्ज लेकर खेती किए थे, सब बर्बाद हो गया, कर्ज कैसे चुकाएंगे। वहीं कुछको जवान बेटी की शादी की ङ्क्षचता सता रही थी। इधर सासंद ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी से सर्वे कराया जाएगा। इसके बाद वास्तविक हकदारों को मदद पहुंचाई जाएगी।

डूबने से युवक की मौत

वहीं, जोकीहाट थाना क्षेत्र अंतर्गत बारा इस्तबरार पंचायत वार्ड नंबर चार में रविवार की दोपहर खेत देखने जा रहे युवक की डूबने से मौत हो गई। डूबे युवक की पहचान बारीक पिता शमीम के रूप में की गई है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस पोस्टमार्टम के लिए नहीं ले जा सकी थी। युवक के डूबने से गांव में मातम छाया है। फारुक आलम ने पीडि़त परिवार को पांच लाख रुपये मुआवजा देने की मांग सीओ अशोक कुमार से की है।  

Edited By: Abhishek Kumar