संवाद सूत्र, बिहपुर: प्रखंड के लत्तीपुर दक्षिण पंचायत के वार्ड नंबर सात गौरीपुर के 28 वर्षीय पुत्र छोटू कुमार को गोली मार दी गई। छोटू का इलाज कराया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार खरीक व बिहपुर थाना की सीमा पर घायल अवस्था में गिरे युवक को सबसे पहले इलाज के बिहपुर सीएचसी लेकर आए। जहां डाक्टरों ने उसका प्राथमिक इलाज करने बाद उसे बेहतर इलाज के लिए जेएलएनएमसीएच, भागलपुर रेफर कर दिया।

हालांकि डाक्टर ने उसकी हालत को खतरे से बाहर बताया है। घायल छोटू ने अस्पताल से ही फोन से अपने स्वजनों को इस घटना की सूचना दिया। छोटू को दाएं जांघ के ऊपर गोली लगी है। घायल ने पुलिस को बताया कि वह लत्तीपुर दुर्गा मंदिर में शाम की आरती करने के बाद घर आ रहा था। गौरीपुर चौक से कुछ पहले ही नंदन कुमार अपनी बाईक से मेरे सामने आया और बाईक पर यह कहकर बैठने को कहा कि चलो चौक से घूमकर आते हैं। मैं बाइक पर बैठ गया। कुछ आगे जाने के बाद गांव ही नीतीश कुमार भी बाइक पर बैठ गया। लत्तीपुर चौक से आगे बढ़ने के बाद नीतीश ने मेरा मुंह अपने हाथ से बंद कर दिया। और करहरू बागीचे के पास नंदन ने मुझ पर गोली फायर कर दिया। मैं गोली लगने पर गिरा तो वे मुझे मरा समझ कर भाग गया। छोटू ने बताया कि मेरा नंदन व नीतीश से कोई विवाद या झगड़ा तक नहीं है।

मर्डर केस में आरोपित है छोटू 

जिस छोटू ने पुलिस को बयान दिया कि उसका नीतीश से कोई विवाद नहीं है। उस घायल छोटू पर 22 दिसंबर 2020 को सन्नी मिश्रा की हत्या का आरोप लगाया जा चुका है। कुमैठा के सन्नी मिश्रा हत्याकांड में ये बेल पर बाहर है। बाहर आते ही अपराधिक एक्टिविटी में फिर से शामिल हो गया है। ऐसा स्थानीय लोगों का कहना है। सन्नी मिश्रा हत्याकांड में नामजद में पांच आरोपित थे, जिनमें चार बेल पर जेल से बाहर हैं, वहीं  एक जेल में बंद है। छोटू ने अपने बयान में पुलिस को ये बात नहीं बताई है।

Edited By: Shivam Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट