भागलपुर, जेएनएन। मन को निर्मल करने से ही मनुष्य और समाज का कल्याण संभव है। मन की निर्मलता से ही देश में सद्भावना का माहौल बनता है। रामचरित मानस हमें जीवन जीने की कला सिखाता है। उक्त बातें नौ दिवसीय विराट महासम्मेलन के पहले दिन मारवाड़ी पाठशाला में आयोजित रामकथा में अपने प्रवचन के दौरान स्वामी अंजनी नंदन महाराज ने कही।

उन्होंने कहा कि राम नाम बहुत बड़ा मंत्र है। इसका पाठ जैसे-तैसे भी करने मात्र से मानव जीवन का कल्याण हो जाता है। रावण ने भी भगवान श्रीराम की प्रशंसा की है। रामजी जब शिवलिंग की स्थापना कर रहे थे तो उसमें पंडित के तौर पर रावण को बुलाया था। रावण ने पूछा कि आप यह शिवलिंग क्यों स्थापित कर रहे हैं? तो श्रीराम ने कहा, रावण वध की सफलता के लिए। विद्वान रावण ने सारी बातों को जानते हुए भी शिवलिंग का विधिवत स्थापना करवाया और एकांत में दक्षिणा लेने की बात कही। इसके पूर्व महासम्मेलन का शुभारंभ मेयर सीमा साह, जिप अध्यक्ष टुनटुन साह, पूर्व मेयर वीणा यादव, पूर्व डिप्टी मेयर डॉ. प्रीति शेखर, सैयद साह फकरे आलम, समिति के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह, मीडिया प्रभारी महेश राय सहित अन्य ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

समारोह को संबोधित करते हुए मेयर सीमा साह ने कहा कि जिस स्थान पर कथा होती है, वह धरती पवित्र हो जाती है। आज से यहां कीर्तन, भजन एवं प्रवचन की त्रिवेणी बहेगी। इसमें नगर के श्रोता आस्था की डुबकी लगाएंगे। वहीं, जिला परिषद अध्यक्ष टुनटुन साह ने यह आयोजन सद्भावना का मिसाल है। इस कार्यक्रम में आने वाले हर श्रोताओं का आत्मा पवित्र हो जाता है।

खानकाह-ए-पीर दमडिय़ा के नायब सज्जादानशीं सैयद शाह फखरे आलम हसन ने कहा यह मानस महासम्मेलन आपसी एकता का पैगाम देता है। पूर्व महापौर वीणा यादव ने कहा कि मनुष्य को मानव बने रहने के लिए सत्संग में अवश्य जाना चाहिए। वहीं, डॉ. प्रीति शेखर ने कहा कि हर व्यक्ति को समाज की चिंता करने की जरूरत है तभी अमन चैन का वातावरण कायम होगा। कार्यक्रम का संचालन गौतम सुमन कर रहे थे। मौके पर समिति के महासचिव विजय कुमार सिंह, अमरेंद्र कुमार सिन्हा,संयुक्त सचिव रणधीर सिंह, संदीप कुमार सिंह, प्रणव दास, शाइन अनवर, रौशन सिंह, सचिव विनोद कुमार सिंह, हरिकिशोर सिंह कर्ण सहित अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस