भागलपुर [जेएनएन]। फर्जी आईडी पर ई-टिकट काटने वालों की सूची आरपीएफ तैयार कर रहा है। भागलपुर के अलावा बांका और सुल्तानगंज में भी इस पर लगाम लगाने के लिए विशेष रणनीति तैयार की गई है। दरअसल, एक आइडी पर महीने में ज्यादा से ज्यादा आठ से दस ई-टिकट ही काटी जा सकती है। लेकिन, साइबर संचालक हर दिन लगभग दो दर्जन से अधिक ई-टिकट की बुकिंग कर रहे हैं। जो रेलवे अधिनियम के विरुद्ध है।

दिल्ली से लेकर कई शहरों की कटती हैं टिकटें

यहां से दिल्ली, मुंबई, कोलकता, चेन्नई, यूपी, बेंगलुरु, जयपुर, जम्मू कश्मीर, पूणे जैसे शहरों का टिकट बुकिंग हो रही है। आरपीएफ इंस्पेक्टर एके सिंह ने बताया कि अवैध संचालकों पहले भी गिरफ्तार किया गया है। कुछ और जगहों पर सुराग मिले हैं।

ज्यादा रकम देकर ले रहे टिकट

ट्रेनों में दबाव बढऩे के साथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों के तत्काल टिकट की मुंहमांगी कीमत जरूरतमंद यात्री देने को मजबूर हैं। इसका पूरा फायदा रेल टिकट की कालाबाजारी में लगे लोग उठा रहे हैं। स्लीपर का कंफर्म टिकट दोगुने दाम से ज्यादा पर मिल रहे हैं। वहीं एसी क्लास की टिकटों पर सात से नौ सौ ज्यादा ली जा रही है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस