भागलपुर [रजनीश]। बदमाशों ने जामलपुर-हावड़ा सुपर एक्सप्रेस में डकैती करने की योजना बनाई थी। लेकिन, यात्रियों की भीड़ और पुलिस स्कॉर्ट देखकर बदमाशों ने अपना प्लान बदल दिया और इंटरसिटी में घटना को अंजाम दिया। रेल पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले गिरोह को चिह्नित कर लिया है। बदमाशों की तलाश में रेल और जिला पुलिस ने बरियापुर के आसपास इलाकों में छापेमारी की। लेकिन सभी बदमाश फरार थे।

रतनपुर स्टेशन पर सवार हुए थे बदमाश

यात्रियों की मानें तो कुछ बदमाश जमालपुर स्टेशन पर सवार हुए थे तो कुछ रतनपुर के आसपास। रतनपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकने के बाद सभी उतर गए और पीछे से आ रही इंटरसिटी में सवार हो गए। रतनपुर से ऋषिकुंड हॉल्ट की दूरी दो किमी से भी कम है। घटना में शामिल बदमाश कई दिनों से दोनों ट्रेनों में सफर कर रेकी कर रहे थे। घटना के शिकार यात्री ने बताया कि डी-आठ कोच में चढ़े बदमाश सुपर एक्सप्रेस के बारे में फोन से बात कर रहे थे। सुपर एक्सप्रेस का इंटरसिटी से पहले समय है।

प्लान बनाने के बाद देते हैं घटना को अंजाम

इंटरसिटी में डकैती की घटना बाद कई चौंकाने वाले मामले सामने आए हैं। ट्रेनों में छिनतई, लूट और डकैती की घटनाओं को अंजाम देने से पहले ट्रेन से जुड़ी तमाम गतिविधियों की पड़ताल बदमाश करते हैंं। मसलन, सामान्य व आरक्षित बोगी कहां लगती हैं। किस डिब्बे में एस्कॉर्ट रहता है। किस ट्रेन में सुरक्षाकर्मी नहीं होते। ट्रेन के आने-जाने का समय क्या होता है। डकैतों का गिरोह ट्रेन में किसी भी स्टेशन पर सवार हो सकता है। लेकिन लूटपाट करने के बाद अपने ही इलाके में उतरता है। 2018 में बदमाशों ने इसी तरह ट्रेनों में लूटपाट की थी।

स्थिति देखकर रचते हैं साजिश

पुलिस सूत्रों के मुताबिक अपराधियों द्वारा पहले ट्रेन का Óवर्क आउटÓ किया जाता है। फिर स्थितियों को देखते हुए साजिश रची जाती है। पहले अपर इंडिया, भागलपुर इंटरसिटी, साहिबगंज इंटरसिटी, राजगीर हावड़ा पैसेंजर में हो चुकी लूटपाट और डकैती की घटनाओं में पकड़े गए बदमाशों ने अपने प्लान का खुलासा किया था।

-गिरोह को चिह्नित कर लिया गया है। छापेमारी चल रही है। मोबाइल लोकेशन से पता लगाया जा रहा है। जल्द ही मामले में खुलासा कर दिया जाएगा।

-आमिर जावेद, रेल एसपी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप