भागलपुर, जेएनएन। ईश्वर की भक्ति पवित्र मन से करनी चाहिए। वे भाव के भूखे होते हैं। ये बातें तीसरे दिन अपने प्रवचन के दौरान गोशाला में कृष्ण प्रिया जी महाराज ने कही। उन्होंने कहा, भक्तों के पे्रमभाव से ही भगवान का अवतरण होता है। भगवान को आप शुद्ध आचरण से भजेंगे तो मोक्ष का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा।

कथा के पूर्व कृष्ण प्रिया जी महाराज को गोशाला का भ्रमण कराया गया। उन्होंने गो पूजन और दर्शन किया। मौके पर कमेटी के गिरधारी केजरीवाल, राम गोपाल पोद्दार, चांद झुनझुनवाला और आशीष सर्राफ सहित अन्य उपस्थित थे।

भागवत कथा से मिलती है जीवन जीने की सीख

शाकंभरी परिवार द्वारा देवी बाबू धर्मशाला में आयोजित भागवत कथा के दूसरे दिन कथा वाचक आचार्य शिवम विष्णु पाठक जी महाराज ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा सभ्य जीवन जीने की कूंजी है। उन्होंने अपने कथा में श्रोताओं को मन, बुद्धि, चित और अहंकार से संबंधित विस्तृत जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि मनुष्य को सर्वधर्म समभाव पर ही चलना चाहिए। मौके पर उन्होंने ध्रुव की भी कथा सुनाई। विष्णु खेतान द्वारा अंग वस्त्र प्रदान कर कथावाचक का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में बाल मुकंद सिंघानिया, भगवती प्रसाद ढांढानियां, निशा पोद्दार, सरिता साह एवं चांद झुनझुनवाला सहित अन्य मुख्य रूप से शामिल रहे।

न्यू शिवपुरी कॉलोनी में भी बह रही है ज्ञान की गंगा

न्यू शिवपुरी कॉलोनी में भी बीते तीन दिनों से ज्ञान की गंगा बह रही है। श्रद्धालु श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण कर धर्म के भागी बन रहे हैं। कथा के तीसरे दिन कथा वाचिका अर्चना कुमारी सिंह ने श्रोताओं को ध्रुव चरित्र की कथा सुनाई। भगवान बामन की सुंदर झांकी भी प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम में मुख्य यजमान रतन सिंह, रिंकू देवी, आयोजक सुनिता मिश्रा, आदित्य, डीके सिंह, प्रवीण झा, सरिता झा, मंजू देवी और कलावती देवी आदि भक्तगण उपस्थित रहे।

बालमन से न करें खिलवाड़

कहलगांव के पाठकडीह गांव में चल रहे श्रीमद् भागवत कथा के छठे दिन कथा वाचन करते हुए स्वामी दिनेशानंद जी महराज ने कहा कि बालमन से कभी भी खिलवाड़ नहीं करें। श्रीकृष्ण की बाललीला पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बच्चे मन से कोमल और भावुक होते हैं। उनके कोमल मन का सम्मान करना चाहिए। उनको मुरझाने से बचाना चाहिए। बचपन जितना सुखमय बीतेगा बुढापा उतनी ही देर से आयेगी। इस अवसर पर कथानाटय भी प्रस्तुत किया गया। मंच संचालन नयन तिवारी ने किया।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस