भागलपुर, जेएनएन। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव शनिवार को भागलपुर में थे। भागलपुर के सैंडिस कंपाउंड में अपराह्न बाद शुरू हुई सभा में तेजस्वी ने फिर बीजेपी को निशाना बनाया। वहीं उन्होंने यह भी सफाई दी कि हमलोग सवर्ण आरक्षण के विरोधी नहीं हैं। उन्होंने कहा कि लेकिन जिस आधार पर आरक्षण दिया गया है, हम उसके विरोधी हैं। इसके अलावा तेजस्वी ने बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर सीएम नीतीश कुमार को भी घेरा तथा उन पर भाजपा की गोद में खेलने का आरोप लगाया। कहा कि चाचा भाजपा की गोद से निकलना नहीं चाहते हैं। 

दरअसल बेरोजगारी हटाओ आरक्षण बढ़ाओ यात्रा के प्रथम चरण का आज तीसरा व अंतिम दिन था। भागलपुर में अच्छी खासी बारिश हो जाने के कारण तेजस्वी की सभा देर से शुरू हुई। हालांकि बारिश होने के बाद भी उनके समर्थक डटे रहे। इसके पहले मंच पर भागलपुर के सांसद बुलो मंडल ने तेजस्‍वी यादव का स्‍वागत किया। 

तेजस्‍वी ने कहा कि 5 एकड़ वाले लोग गरीब नहीं होते हैं। 66 हजार रुपये महीना कमाने वाले को आरक्षण देना कहां से उचित है। उन्होंने कहा कि जो गरीब हैं, हम उनके साथ हैं। उनको आरक्षण मिलना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जातीय जनगणना के आधार पर लोगों को आरक्षण मिलना चाहिए। लेकिन भाजपा वाले संविधान को समाप्त करना चाह रही है। 

तेजस्वी ने कहा कि बाबा भीमराव आंबेडकर के बनाए संविधान को बर्बाद करने पर तुली है। बिहार में अपराध चरम पर है। महिलाओं की अस्मत लूटी जा रही है। दिनदहाड़े डाका पड़ रहा है। कानून नाम की कोई चीज नहीं है, लेकिन हमारे चाचा नीतीश कुमार भाजपा की गोद से निकलना नहीं चाह रहे हैं। उन्हें सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने की चिंता है। उन्हें बिहार के लोगों की चिंता नहीं है। 

तेजस्वी ने कहा कि डीएनए के मुद्दे पर नीतीश कुमार ने कहा था कि हम मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन भाजपा के साथ नहीं जाएंगे। लेकिन, अपनी कुर्सी बचाने के लिए वह भागकर भाजपा की गोदी में बैठ गए हैं।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस