भागलपुर [जेएनएन]। यातायात नियमों की अनदेखी कर लोग मोबाइल पर बात करते वाहन चला रहे हैं। इससे यातायात नियमों का उल्लंघन तो होता ही है, साथ ही ऐसे लोग खुद दुर्घटना को आमंत्रण दे रहे हैं। शहर की सड़कों पर मोबाइल से बात करते हुए वाहन चलाते हुए कई लोग मिल जाएंगे, लेकिन ऐसे लोगों के खिलाफ न तो जिला परिवहन विभाग के अधिकारी और न ही पुलिस कार्रवाई कर रही है। बगैर हेलमेट पहने दोपहिया और और सीट बेल्ट लगाए चारपहिया चलाने वालों के खिलाफ ही अभियान चलाया जा रहा है।

नियमों का पालन नहीं कर रहे प्रदूषण जांच केंद्र के संचालक

चौदह दिनों से चल रहे वाहन चेकिंग के कारण वाहनों के प्रदूषण जांच के लिए प्रदूषण जांच केंद्र में भीड़ लग रही है, लेकिन अधिकांश केंद्र द्वारा प्रदूषण जांच में खानापूरी की जा रही है। मशीन से जांच किए बगैर ही प्रदूषण सर्टिफिकेट दिया जा रहा है। निर्धारित रेट से बीस रुपये अधिक राशि भी केंद्र संचालकों द्वारा लिया जा रहा है। इन केंद्रों द्वारा मोबाइल से वाहन का नंबर लेकर कंप्यूटर पर लोड कर दिया जाता है। यही नहीं रजिस्ट्रेशन रद होने के बावजूद वाहनों के प्रदूषण जांच कर सर्टिफिकेट दिया जा रहा है।

जिला परिवहन विभाग ने की जांच

जिला परिवहन विभाग के अधिकारियों ने शनिवार सबौर, जीरोमाइल, खंजरपुर, डिक्शन रोड, मोजाहिदपुर, घंटाघर, हबीबपुर समेत शहर में संचालित दस प्रदूषण जांच केंद्र की जांच की। इस दौरान पंजीयन रद के बावजूद वाहनों के प्रदूषण जांच करते पकड़े गए प्रदूषण केंद्र के सभी कागजात को जब्त किया गया। सबौर बहादुर में प्रदूषण जांच केंद्र बंद मिला।

कचहरी चौक सहित अन्य जगह चलाए गए जांच अभियान

कचहरी चौक, भीखनपुर चौक, रानी लक्ष्मीबाई चौक, शहीद चौक, मोजाहिदपुर समेत शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर वाहनों की सघन चेकिंग की गई। इस दौरान बिना हेलमेट पहने ग्यारह दोपहिया चालकों को जुर्माना किया गया। वहीं यातायात पुलिस ने चेकिंग के दौरान कचहरी चौक के समीप बिना सीट बेल्ट लगाए बच्चों को लादने वाले बस समेत दो स्कूली वाहनों को जुर्माना किया।

विक्रेताओं के साथ बैठक करेंगे डीटीओ

जिला परिवहन पदाधिकारी अरूण सिन्हा वाहन विक्रेताओं के साथ बैठक करेंगे। बैठक डीटीओ कार्यालय में दोपहर तीन बजे होगी। जिसमें एमवीआइ भी मौजूद रहेंगे।

मोबाइल से बात करते वाहन चलाने वालों के खिलाफ चलेगा अभियान

एमवीआइ वीएस तिवारी ने कहा कि प्रदूषण जांच केंद्रों की जांच की गई। इस दौरान बरारी थाना क्षेत्र में निबंधन रद के बावजूद बिना जांच के वाहन चालकों को सर्टिफिकेट दिया जा रहा था। इस केंद्र के सभी कागजातों को जब्त कर लिया गया है। अवैध रूप से संचालित प्रदूषण जांच केंद्र के संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सभी केंद्रों को वाहनों के जांच दर का चार्ट लगाने को कहा है। ऐसा नहीं करने वालों पर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि मोबाइल से बात करते हुए गाड़ी चलाना यातायात नियमों के विरुद्ध है। इससे दुर्घटना की संभावना रहती है। इसलिए ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ भी अभियान चलाया जाएगा।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस