जागरण संवाददाता, खगडिय़ा। दूरसंचार विभाग के गौशाला रोड खगडिय़ा स्थित माइक्रोवेब में कार्यरत एक चतुर्थ वर्गीय कर्मी की बुधवार की रात्रि संदिग्ध मौत हो गई। गुरुवार की सुबह उनका शव कार्यालय में मिलते ही हड़कंप मच गया। अविलंब सूचना स्थानीय थाना को दी गई। मृतक स्थानीय सन्हौली निवासी गोवर्धन पासवान के पुत्र पवन पासवान हैं।

पुलिस ने सदर अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप दिया है। स्वजनों के मुताबिक बुधवार की दोपहर पवन पासवान ड्यूटी पर गौशाला रोड स्थित माइक्रोवेब गए थे। रोजाना रात के नौ बजे घर वापस लौट आते थे। लेकिन बुधवार की रात्रि 10 बजे तक घर वापस नहीं आने के बाद मृतक के छोटे बेटे सन्नी ने फोन कर कर खबर लेना चाहा। परंतु, मोबाइल नहीं उठने के बाद रात से ही स्वजन परेशान थे।

पवन पासवान के वापस नहीं आने के बाद गुरुवार की सुबह मृतक दूरसंचार कर्मी के पुत्र सन्नी कार्यालय पहुंचा, तो देखा कि पिता पवन पासवान अपने बिस्तर पर बेसुध पड़े हुए हैं। जिसे उठाने का प्रयास किया, लेकिन शरीर में किसी प्रकार की हलचल नहीं होने के बाद सदर अस्पताल ले गया। जहां चिकित्सक ने पवन पासवान को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद स्वजनों में कोहराम मच गया। पवन पासवान अपने पीछे पत्नी, तीन बेटी और दो बेटे को छोड़ गए हैं। इस संबंध में सदर एसडीपीओ सुमित कुमार ने कहा कि चित्रगुप्तनगर पुलिस मामले की जांच कर रही है। शीघ्र दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। 

पांचवें दिन लाभगांव के समीप मिला माधुरी का शव

खगडिय़ा  के गंगौर के तेरासी घाट के समीप बूढ़ी गंडक नदी में स्नान के दौरान एक ही परिवार के लापता तीन लोगों में तीसरा शव प्रियंका उर्फ माधुरी का लाभगांव के समीप से बरामद किया गया है। हादसा के दिन ही रौशन का शव बरामद किया गया था। खगडिय़ा के समीप से रेशमी का शव बरामद हुआ था। ओपी अध्यक्ष राजीव रंजन ने बताया कि आवश्यक प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla