सुपौल, जेएनएन। Supaul Weather Forecast : छठ पूजा के दिन से ही ठंड का असर दिखने लगा है। पछिया हवा के झोंके के साथ ठंड बढऩे लगी है और दिन व रात के तापमान में अंतर भी बढऩे लगा है। अगले दो दिनों में ठंड के बढऩे के आसार हैं। न्यूनतम तापमान में गिरावट की संभावना है। छठ पूजा से पहले तक तापमान में उतार-चढ़ाव जारी रहा। रात में ठंड पड़ती थी लेकिन दिन में तेज धूप की वजह से लोगों को ठंड का एहसास नहीं होता था। इधर छठ पूजा के दिन शनिवार से पछिया ने जोर पकड़ा है। रविवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले दो दिनों तक अधिकतम तापमान में फर्क नहीं बताया गया है जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट दिखाई जा रही है। अगले दो दिन सोमवार और मंगलवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री और 27 डिग्री रहने का अनुमान है जबकि न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस के आसपास बताया जा रहा है। लिहाजा रात को ठंड बढ़ सकती है। इसी तरह बताया गया है कि नवंबर के अंत तक ठंड में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बढ़ोतरी हो सकती है।

सजा गर्म कपड़ों का बाजार

बहरहाल ठंड को देखते हुए गर्म कपड़ों का बाजार सजने लगा है। मॉल और शोरूम में जहां डिजाइनर कपड़े उपलब्ध हैं वहीं फुटपाथों पर भी ऊलेन अइटम बिकने लगे हैं। बाजार में विभिन्न रेंज के कंबल, जैकेट, ब्लेजर आदि की बिक्री हो रही है। लोग अपनी जेब के हिसाब से खरीदारी कर रहे हैं।

लेदर जैकेट युवाओं की खास पसंद

श्रीराम ड्रेसेज के अक्षय मिश्रा बताते हैं कि मौसम भले ही ठंड हो चला हो चला हो लेकिन बाजार में बिक्री की गर्मी नहीं है। बताया कि ठंड को देखते हुए उन्होंने इस बार कपड़े जरूर मंगाए हैं लेकिन बाजार को भांपते हुए। लॉकडाउन के कारण बाजार की स्थिति ठीक नहीं है। युवाओं की पसंद ख्याल रखते हुए लेदर जैकेट मंगाया है। यह एक हजार से ढाई हजार तक के रेंज में उपलब्ध है। लेदर जैकेट युवतियों और बच्चों की भी खास पसंद है। इसी तरह ब्लेजर की मांग भी रहती है। टूल्स कपड़े के बने ब्लेजर लोग अधिक पसंद करते हैं। यह ऑल टाइम वियर कहे जाते हैं। स्वेट शर्ट चार सौ लेकर एक हजार तक के हैं। यह युवा एवं युवतियों की विशेष मांग है। बताया कि फिलहाल स्टॉल की बिक्री अच्छी हो रही है। अब तो लड़कों के लिए भी स्टॉल उपलब्ध है। गमछे की तरह इसका उपयोग मास्क के रूप में भी लोग कर लेते हैं साथ ही ठंड से भी बचाव होता है।

कंबल की बिक्री बढ़ी

शिवशक्ति टेक्सटाइल के गौरव कुमार बताते हैं कि ठंड गिर गई है तो कंबल की बिक्री बढ़ी है। वे रोजाना 12-15 कंबल बेच लेते हैं। गौरव बताते हैं कि पिछले साल की तुलना में इस साल अधिक कंबल बिक रहे हैं। उनकी दुकान में पांच सौ रुपये से लेकर दो हजार रुपये तक के कंबल उपलब्ध हैं।

Edited By: Dilip Kumar Shukla