भागलपुर [अमरेंद्र कुमार तिवारी]। टीएमबीयू प्रशासन 18 और 28 जनवरी को दो चरणों में छात्र संघ चुनाव कराने को तैयार है। पर यह चुनाव परीक्षा, नामांकन और सुरक्षा कारणों के पेच में फंस सकता है। विभिन्न छात्र संगठन भी चुनाव इसकी तिथि बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, अंग क्रांति एवं छात्र राजद सहित विभिन्न संघों का साफ कहना है कि बिना पीजी एवं एलएलएम में दाखिला पूर्ण किए और लॉ के विभिन्न सत्रों की परीक्षा संपन्न हुए चुनाव कराने का कोई औचित्य नहीं है। इसके साथ ही 10-11 जनवरी को चुनाव के लिए नामांकन तिथि तय की गई है। नौ जनवरी को शहर में सीएम रहेंगे। 19 जनवरी को मतगणना की तिथि निर्धारित है जबकि उसी दिन राज्य सरकार ने मानव शृंखला बनाने की योजना बना रखी है। ऐसे में पूरा जिला प्रशासन विधि व्यवस्था में उलझा रहेगा। फिर छात्र संघ चुनाव में एहतियातन सुरक्षा में कमी होगी। विधि व्यवस्था का प्रश्न खड़ा होगा। जो विवि प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती होगी।

आज होगा मतदाता सूची का प्रकाशन

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में 18 जनवरी को कॉलेज स्तर पर होने वाले छात्रसंघ चुनाव के लिए बुधवार को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा। पीजी सहित सभी कॉलेजों ने इसकी तैयारियां पूरी कर ली है। प्रभावित छात्र संबंधित कॉलेजों के निर्वाची पदाधिकारी के समक्ष अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। गुरुवार को अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा। इसकी पुष्टि टीएनबी के प्राचार्य डॉ. संजय कुमार चौधरी, एसएम कॉलेज की प्राचार्य डॉ. अर्चना ठाकुर, मारवाड़ी कॉलेज के डॉ. गुरुदेव पोद्दार एवं बीएन कॉलेज की प्राचार्य डॉ. नीलू कुमारी ने भी की है।

समय पर कराएं चुनाव

छात्र जदयू के विवि अध्यक्ष सोमू राज के नेतृत्व मंगलवार को एक शिष्टमंडल डीएसडब्ल्यू से मिला और छात्र संघ चुनाव समय पर कराने की मांग की। छात्र नेता का कहना था कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चुनाव कराएं। अन्यथा की स्थिति में इसका शैक्षणिक कार्य पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। शिष्टमंडल में रूपेश यादव, ललित मंडल, सुमित कुमार, तहसीन शबाव, शुभम चौधरी सहित अन्य शामिल थे।

कॉलेज स्तर पर मतदान तिथि में बदलाव संभव

टीएमबीयू में प्रथम चरण के दौरान 18 जनवरी को कॉलेज स्तर पर मतदान की तिथि निर्धारित है। लेकिन यह तिथि सुरक्षा कारणों से बढ़कर 22 या 23 जनवरी की जा सकती है। यह संभावना विवि के मुख्य निर्वाची पदाधिकारी सह डीएसडब्ल्यू डॉ. योगेंद्र प्रसाद ने व्यक्त की है। इसके पीछे कारण 19 जनवरी को राज्य सरकार के निर्देश पर मानव श्रृंखला का कार्यक्रम बताया जाता है। जिसमें पूरे जिला प्रशासन की भागीदारी होगी। विवि प्रशासन ने इस कड़ी में पुलिस के सुविधा के अनुसार 22 या 23 जनवरी को मतदान की तिथि निर्धारित करने का प्रस्ताव रखा है। वहां से सहमति मिलने पर ही मतदान की नई तिथि घोषित की जा सकती है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस