भागलपुर। बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) सबौर के स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार का विरोध करने वाले छात्रों पर विवि प्रशासन ने कार्रवाई की है। पीएचडी के छात्र निखिल कुमार को शुक्रवार को निष्कासित कर दिया गया है। जबकि कुछ और छात्रों पर भी कार्रवाई तय है।

विवि के पीआरओ डॉ. आरके सोहाने ने बताया कि विश्वविद्यालय का माहौल खराब कर रहे छात्र पर नियमानुसार कार्रवाई की गई है। कैंपस में किसी तरह की अनुशासनहीनता बर्दास्त नहीं की जाएगी। वीसी आवास के बाहर धरने पर बैठे छात्र

निखिल कुमार के निष्कासन के विरोध में शुक्रवार को छात्र कुलपति आवास के बाहर धरने पर बैठ गए। छात्रों ने बताया कि कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर वे लोग भूख हड़ताल कर रहे थे। इसी को लेकर विवि प्रशासन ने पुराने मामले में कार्रवाई की है, ताकि उनका आंदोलन समाप्त किया जा सके।

वहीं, धरना की सूचना मिलने पर सबौर सीओ विक्रम भास्कर, थानाध्यक्ष अजय कुमार अजनवी और जीरोमाइल थानाध्यक्ष राजरतन दलबल के कुलपति आवास के बाहर मौजूद थे। क्या है मामला

पांच अगस्त को विवि के स्थापना दिवस कार्यक्रम में भाग लेने कृषि मंत्री पहुंचे थे। इस दौरान विभिन्न संकाय के छात्र अपनी मांगों को लेकर मुख्य द्वार पर प्रदर्शन कर रहे थे। इसी बीच कृषि मंत्री का काफिला विश्वविद्यालय के अतिथि गृह से प्रशासनिक भवन की तरफ बढ़ा, लेकिन प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कृषि मंत्री को मुख्य द्वार पर ही रोक दिया। इसके बाद कृषि मंत्री कार्यक्रम में हिस्सा लिए बिना ही वापस लौट गए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस