भागलपुर। बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) सबौर में प्रोन्नति की मांग को लेकर वैज्ञानिक भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। इसमें बीएयू के सभी अंगीभूत कॉलेजों और शोध संस्थानों के शिक्षक मौजूद हैं। वहीं, इससे पहले बुधवार को वैज्ञानिकों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध-प्रदर्शन किया था।

दरअसल, बीएयू में पिछले 13 सालों से किसी भी वैज्ञानिक को प्रमोशन नहीं मिला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि 2010 में विश्वविद्यालय की स्थापना हुई, इसके बाद हम लोगों की कड़ी मेहनत से विश्वविद्यालय निरंतर नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है, लेकिन इसके बाद भी विवि प्रशासन वैज्ञानिकों को सहयोग नहीं कर रहा है।

विवि प्रशासन बना रहा है दबाव

विश्वविद्यालय प्रगतिशील शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. एस दिवाकर, सचिव डॉ. एच मीर सहित अन्य वैज्ञानिकों ने कहा कि गुरुवार को तीन बजे कुलपति ने इस मुद्दे पर बातचीत के लिए हम लोगों को बुलाया था, लेकिन वहां हमारी मांगों पर विचार करने के बजाय हड़ताल खत्म करने के लिए दबाव बनाया गया।

-----------------

कोट ....

सरकार के पास वैज्ञानिकों के प्रोन्नति का मामला भेज दिया गया है। यह प्रक्रिया अंतिम चरण में है। मंजूरी मिलते ही इस पर पहल की जाएगी।

: डॉ. आरके सोहाने, पीआरओ बीएयू सबौर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप