जागरण टीम, भागलपुर। सृजन घोटाले का मास्टरमाइंड अमित व प्रिया की संपत्ति को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) दिल्ली की टीम से जब्त कर लिया। संतोष मंडल के नेतृत्व में आई ईडी की टीम ने गुरुवार को कार्रवाई शुरू की। टीम सबसे पहले सबौर प्रखंड के हड़वा बहियार गई। यहां दो खाली भूखंड को जब्त कर बोर्ड टांग दिया। इसके अलावा, अंग अपार्टमेंट में दो, इंजीनियरिंग कालेज के सामने तीन सहित कुल सात भूखंडों को जब्त किया। तीन जगहों पर करोड़ों की लागत से भवन बना हुआ है।

जियाउद्दीनपुर चौका के पास तीन भूखंड गंगा में समा गया है, जिस कारण उसकी जब्ती नहीं हो सकी। सभी जब्त भूखंडों पर प्रवर्तन निदेशालय ने अपना बोर्ड लगा दिया है। बताया जा रहा है कि बहुत जल्द ईडी द्वारा नीलामी की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

आज जगदीशपुर व नाथनगर में होगी कार्रवाई

शुक्रवार को सबौर के कुरपट सहित नाथनगर और जगदीशपुर में सृजन घोटाले से जुड़े लोगों की संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई होगी। इन संपत्तियों को सीबीआइ ने चिह्नित कर रखा है। सभी भूखंड सृजन महिला विकास सहयोग समिति की सचिव मनोरमा देवी के पुत्र अमित कुमार और पुत्रवधू रजनी प्रिया सहित कुछ करीबियों के नाम से आवंटित है।

सृजन घोटाले के सहयोगियों पर कार्रवाई

प्रवर्तन निदेशालय की मानें तो बहुत जल्द सृजन महिला विकास सहयोग समिति से जुड़े लोगों पर भी कार्रवाई होगी। सीबीआइ ने सहयोगियों की संपत्तियों को भी चिह्नित कर रखा है। प्रवर्तन निदेशालय उसे भी जब्त कर नीलाम करेगी, लेकिन इन संपत्तियों पर न्यायालय द्वारा रोक लगा दिया गया है। रोक हटते ही त्वरित कार्रवाई की जाएगी। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जब्ती की कार्रवाई शुरू करने से सृजन से जुड़े लोगों में हड़कंप मच गया है। कार्रवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय की चार सदस्यीय टीम के साथ सबौर अंचल के कर्मचारी प्रमोद पासवान, अमीन महादेव, नीरज सहित पुलिस की टीम मौजूद थी। टीम बीएयू के गेस्ट हाउस में ठहरी है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla