भागलपुर। सृजन घोटाले के मास्टरमाइंड और कलिंग सेल्स के मालिक एनवी राजू की संपत्ति को जब्त किए 24 घंटे भी नहीं हुए हैं कि कई खरीदार सामने आने लगे हैं।

अभी जोगसर इलाके के चंडी प्रसाद लेन की संपत्ति को एक थानेदार का भाई खरीद रहा है। उसने बैंक में बकायदा बोली भी लगा दी है। बिड की 25 फीसद रकम जमा भी कर दी है। जमीन 1440 वर्गफीट है। बैंक ऑफ बड़ौदा की ओर से 28 जनवरी को नीलामी की गई थी।

15 फरवरी को कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू की 2.20 करोड़ की संपत्ति को बैंक ऑफ बड़ौदा ने जब्त किया था। इसमें ईश्वरी कांपलेक्स(कोतवाली) में 1004 वर्ग फीट दुकान, अध्याति टावर (कचहरी चौक) में 856 वर्गफीट बेसमेंट दुकान एवं जेपी लेन (जोगसर) में 1440 वर्गफीट खाली जमीन है।

-----------------------

राजू की दो और संपत्तियों पर बैंक की नजर

कलिंगा सेल्स के मालिक पर बैंक का कुल बकाया ब्याज मिलाकर 1.88 करोड़ है। सभी की नीलामी होगी। नीलामी में इस संपत्ति से बैंक का पैसा ऊपर नहीं हुआ तो बैंक राजू की दो और संपत्ति अंगिका विहार में फ्लैट और बंशीटिकर में चार कट्ठा जमीन पर भी दखल करेगा। कानूनी सलाहकार केशव झा ने कहा कि काफी भागदौड़ के बाद यह सफलता मिली है। किसी भी कीमत पर बैंक का पैसा नहीं डूबेगा। जरूरत पड़ी तो और संपत्ति जब्त की जाएगी।

-----------------------

संपत्ति जब्त में कब कैसे हुई कार्रवाई

-06 जनवरी को डीएम ने एसडीओ को दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त करने के लिए लिखा था पत्र।

-13 जनवरी को सदर एसडीओ ने शाखा प्रबंधक को दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति के लिए दंडाधिकारी शुल्क 1900 रुपये प्रति दंडाधिकारी प्रतिदिन के हिसाब से जमा करने के लिए पत्र लिखा था।

-16 जनवरी को बैंक की ओर से दंडाधिकारी शुल्क जमा किया गया।

-18 जनवरी को एसएसपी ने कोतवाली, इशाकचक व जोगसर थाना को बल देने का दिए निर्देश।

-29 जनवरी को एसएसपी ने सशस्त्र बल के लिए शुल्क जमा करने को बैंक को लिखा था पत्र।

-15 फरवरी को तीनों संपत्तियों को बैंक ने किया सील।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस