भागलपुर [जेएनएन]। रेलवे की ओर से चलाए जा रहे छठ स्पेशल से यात्रियों को फायदा नहीं मिलने वाला है। स्पेशल के नाम पर यात्री ठगा महसूस कर रहे हैं। चार दिवसीय महापर्व की शुरुआत 31 अक्टूबर से हो रही है। तीन नवंबर को सुबह अर्घ्‍य के बाद महापर्व समाप्त होगा। भागलपुर से आनंद विहार टर्मिनल के बीच चलने वाली छठ स्पेशल दो नवंबर को आखिरी फेरा लगाएगी। इस कारण छठ वापसी के बाद इस ट्रेन से यात्रियों को खास फायदा नहीं पहुंच रहा।

दरअसल, रेलवे की ओर से 22 अक्टूबर से एक नंबर तक आनंद विहार टर्मिनल से भागलपुर के लिए दो जोड़ी छठ स्पेशल का परिचालन किया जा रहा है, लेकिन वापस जाने के लिए एक भी छठ स्पेशल तीन नंवबर और इसके बाद नहीं है। ऐसे में छठ पर्व पर घर पहुंचे लोगों को वापसी के लिए काफी परेशान होना पड़ेगा।

विक्रमशिला, साप्ताहिक, फरक्का और ब्रह्मपुत्र में जगह नहीं

दिल्ली की ओर जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस, साप्ताहिक एक्सप्रेस, फरक्का और ब्रह्मपुत्र मेल में 10 नवंबर तक कोई जगह नहीं है। सभी ट्रेनों में लंबा प्रतिक्षा सूची है। ऐसे में यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

आरपीएफ जवानों को किया गया अलर्ट

छठ में होने वाली यात्रियों को भीड़ को देखते हुए स्टेशन की सुरक्षा कड़ी होगी। मेटल डिटेक्टर और डॉग स्कॉवयड को स्टेशन पर तैनात रहेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से जवानों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। सुरक्षा कर्मी स्टेशन पर आने-जाने वालों पर कड़ी नजर रखेंगे। जवानों को पूरी तरह अलर्ट किया गया है। इसके अलावा सुरक्षित यात्रा का टास्क दिया गया है। शनिवार को आरपीएफ पोस्ट में इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह की देखरेख में थाना में दारोगा, जमादार और आरक्षियों की बैठक हुई। इंसपेक्टर ने हेल्प लाइन नंबर 182 का प्रचार प्रसार करने की बात कही। साथ ही नशाखुरानी गिरोह के प्रति यात्रियों को जागरूक करने पर बल दिया।

कोच और प्लेटफॉर्म पर प्रचार-प्रसार

छठ को लेकर केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ ने भी तैयारी की है। संघ के सदस्य ट्रेन और प्लेटफॉर्म पर नशाखुरानी से बचाव के लिए पर्चा बांटेंगे। साथ ही यात्रियों को जागरूक करेंगे। संघ के अध्यक्ष विष्णु खेतान ने बताया कि अनाउंसमेंट कर रेल यात्रियों को जागरूक किया जाएगा।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस