भागलपुर। शहर के लोगों में ईद की बेकरारी बढ़ रही है। गुरुवार को चांद नहीं दिखा। अब शुक्रवार को चांद दिखेगा। ईद शनिवार को मनाया जाएगा। ईद को लेकर बाजार भी गुलजार है। कपड़े, जेवर से लेकर अन्य चीजों की जोर-शोर से खरीदारी हो रही है। मस्जिदों में सजावट की तैयारी है। लोग खासे उत्साहित हैं। सेवई और मेवे की खरीदारी जोर-शोर से हो रही है, वहीं लोकल मार्केट से लेकर शहर के सभी मॉल भी खरीदारों की भीड़ से गुलजार हैं। बड़े से लेकर लोकल ब्राड तक खरीदारी पर छूट दे रहे हैं।

बाजार में मिल रही विशेष छूट

बाजार में ईद को लेकर विभिन्न उत्पादों पर भारी छूट दी जा रही है। हर साल समर सीजन के कपड़े जूतों से लेकर एसेसरीज पर भारी डिस्काउंट होता है। बाजार में सेवई की विशेष डिमाड है। यह 55 से 130 रुपये प्रति किलो बिक रही है। मीडियम सेवइयों की भी विशेष माग है। अजमेरी और हैदराबादी टोपी की बहार : फिलहाल नमाजियों के सिर पर रामपुरी, अजमेरी और हैदराबादी की निजामी टोपियों के साथ विदेशी टोपिया भी नजर आ रही हैं। बाजार में तुर्की, इंडोनेशिया, मलेशिया, बंग्लादेश की टोपिया भी बिक रही हैं। महिलाएं कर रहीं तरह-तरह के व्यंजन बनाने की तैयारी : ईद-उल-फितर नजदीक है। इस दिन लोग दावत का आयोजन करते हैं। वैसे तो ईद के मौके पर सेवई बनाई जाती है लेकिन इस खुशी के मौके पर सेवई के अलावा बिरयानी, कोरमा, कबाब, कई प्रकार की रोटी बनाने से लेकर बेहतरीन शरबत भी बनाई जाती है। लोगों ने इसकी तैयारी भी पूरी कर ली है। तरह-तरह का व्यंजन बनाने को लेकर महिलाओं में भी उत्साह है। ये होंगे प्रमुख व्यंजन

कबाब : कबाब हमेशा से ईद का अहम हिस्सा रहे हैं। इसमें चिकन सीक कबाब, गलौटी कबाब भी बनाने की तैयारी है। इन टिक्कियों को आप खुबानी (ऐप्रिकॉट) की चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं। बादाम की शरबत : पार्टी में डि्रंक्स की बात करें तो बादाम की शरबत बहुत ही बेहतर है। बादाम, इलाइची और केवड़ा डालकर तैयार किए गए इस रिफ्रेशिग डि्रंक से किसी को भी इम्प्रेस कर सकते हैं। इसके अलावा मौसमी फल आम से भी मैंगो शेक के ऊपर मैंगो आइसक्रीम के साथ इलाइची पाउडर, कटे हुए बादाम डालकर गार्निश करके सर्व करने की तैयारी कई महिलाएं कर रही हैं। मेन कोर्स में खास : ईद बिना बिरयानी के अधूरी है और इस बारे में आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। दम बिरयानी तीन लेयर केसर और-दूध चावल मटन के टुकड़ों में बनाई जाती है। इस लिस्ट में आप भुना मटन गोश्त भी शामिल कर सकते हैं, जिसमें मटन के टुकड़ों को मसालों, दही और दूध के साथ पकाया जाता है। मटन भुना गोश्त के साथ जीरा राइस का बेस्ट कॉम्बिनेशन है। डेजर्ट : अब बात करते हैं डेजर्ट की। यह बात तो सभी जानते हैं ईद उल फितर को मीठी ईद भी कहा जाता है। किसी को बताने की जरूरत नहीं है कि मीठा इस त्योहार का अहम हिस्सा है। शीर कुर्मा ईद के अवसर पर जरूर बनाया जाता है। शीर कुर्मा वर्मिसेली का ऑथेटिंक वर्जन है, जिसे खासतौर पर ईद के दिन बनाया जाता है। फारसी में शीर का अर्थ दूध और कुर्मा का खजूर है। इलाइची, किशमिश, कद्दूकस किया हुआ नारियल इसके स्वाद को और भी बढ़ा देते हैं। जूते व चप्पल : ईद के लिए बच्चों के जूते व चप्पलों की डिमाड ने सबको चौंका दिया है। जूतों की खरीदारी में कमोबेश 65 फीसद खरीदारी बच्चों के जूते व चप्पलों की है। बिक्रेता हैदर कहते हैं कि ज्यादातर खरीदारी बच्चों के जूते व चप्पलों की है। महिलाओं के श्रृगार की बिक्री दूसरे स्थान पर है। इत्र ने मचाई धूम : ईद की जरूरतों में कपड़ा, जूता चप्पल, कुर्ता-पायजामा के साथ इत्र की खुशबू भी है। दुकानदार बताते हैं कि ग्राहकों की पंसद रोजबरोज बदल रही है। दुबई और सऊदी अरब की खुशबुओं की डिमाड ने बाजार में हलचल मचा दी है। खलीजी मुल्कों में तैयार किए जा रहे इत्र से बाजार ऊंचा हो गया है। सजावट के आइटम : दीपावली की तर्ज पर ईद पर सजावट के लिए चाइनीज आइटमों की धूम है। घरों को सजाने के लिए महिला पुरुष इन आइटमों को खरीद रहे हैं। चौराहों के अलावा शहर के खास मुहल्लों में भी इनकी दुकानें सजने लगी हैं। बच्चों के खिलौने के रूप में गली मुहल्लों में इनकी बिक्री शुरू हो गई है।

By Jagran