भागलपुर [रजनीश]। रेलवे ने महिला यात्रियों की सुविधाओं में बढ़ोतरी की है। भागलपुर से खुलने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस और दूसरे एक्सप्रेस, मेल ट्रेनों में महिलाओं के लिए लोवर बर्थ (नीचे का बर्थ) की संख्या बढ़ा दी गई है। इसका लाभ नए साल से मिलेगा। रेलवे की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। अब तक स्लीपर में छह, थ्री एसी में तीन और टू-एसी में दो बर्थ आरक्षित था, लेकिन नए साल से सभी क्लास में सीटें बढ़ा दी गई हैं। इसका लाभ 45 वर्ष से अधिक उम्र्र की महिलाओं को मिलेगा।

सभी श्रेणियों के लिए अलग-अलग सीटें आरक्षित

आइआरसीटी के अधिकारी के मुताबिक अलग-अलग श्रेणी के कोचों में अलग-अलग संख्या में सीटें आरक्षित की गई हैं। नए नियम के मुताबिक मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के स्लीपर में एक कोच में छह और ट्रेन में एक से अधिक कोच लगे रहने पर सात सीटें आरक्षित की गई हैं। इसी तरह थ्री-एसी में एक कोच में चार सीटें आरक्षित होंगी, जबकि कोच की संख्या ज्यादा हुई तो पांच सीटें। वहीं, एसी-टू क्लास में एक से ज्यादा कोच रहने पर दो सीटें आरक्षित की गई हैं। एक कोच रहने की स्थिति में एक सीट महिलाओं के लिए आरक्षित रहेगी।

ई-टिकट बुकिंग में गर्भवती महिलाओं के लिए अब दिखेगा कॉलम

नए साल से ई-टिकट बुकिंग में भी गर्भवति महिलाओं के लिए कॉलम दिखेगा। काउंटर से बुकिंग कराने पर यह सुविधा मिल रही है। महिलाओं को लोवर बर्थ उपलब्ध कराने के लिए सेंटर फोर रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम (क्रिस) द्वारा सॉफ्टवेयर डेवलप किया जा रहा है।

मुख्य बातें

-स्लीपर, थर्ड एसी, सेकंड एसी में बढ़ाई गईं आरक्षित सीटों की संख्या

-महिला यात्रियों को होगी सुविधा, मेल और दूसरे एक्सप्रेस में होगा लागू

-06 से सात सीटें स्लीपर क्लास में

-04 से पांच सीटें एसी थ्री कोच में

-02 सीटें एसी टू कोच में

-45 वर्ष और इससे ज्यादा उम्र की महिलाएं ले सकेंगी लाभ

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस