भागलपुर [आलोक कुमार मिश्रा]। अब विश्व प्रसिद्ध देवघर के प्रसाद के लिए बाबानगरी जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप चाहें तो उसे घर बैठे भी मंगवा सकते हैं। इसके लिए डाक विभाग और मंदिर ट्रस्ट ने मिलकर योजना बनाई है। करार होते ही इसी सावन से होम डिलीवरी शुरू कर दी जाएगी।

प्रसाद पाने के लिए आपको मंदिर ट्रस्ट की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 48 घंटे से 72 घंटे के भीतर डाकिया प्रसाद लेकर आपके घर पहुंच जाएगा।

प्रसाद में पेड़ा के अलावा भभूत व बेलपत्र भी रहेगा। डाकिया को कैश कैश ऑन डिलीवरी करने का प्रावधान होगा। डाकघर उस राशि को ट्रस्टी के खाते में जमा कर देगा। एक किलोग्राम या इससे अधिक प्रसाद की बुङ्क्षकग करा सकते हैं। प्रसाद की गुणवत्ता उच्च स्तर की होगी।

बड़े पेड़ा निर्माता से एग्रीमेंट

बेहतर क्वालिटी के लिए मंदिर ट्रस्ट किसी बड़े पेड़ा निर्माता से एग्रीमेंट करेगा। यह भी संभव है कि मंदिर ट्रस्ट खुद पेड़ा बनवाए। डाक विभाग के अधिकारी ने बताया कि बुङ्क्षकग करते ही संबंधित व्यक्ति के मोबाइल पर मैसेज आ जाएगा। इसी तरह प्रसाद की डिलीवरी होते ही मंदिर ट्रस्ट, डाकघर और भक्त के मोबाइल पर दोबारा मैसेज आ जाएगा।

एयर सर्विस कार्गो से है एग्रीमेंट

आरएमएस की तरह डाक विभाग का भी एयर सर्विस कार्गो से एग्रीमेंट है। सावन में इसे धरातल पर उतारने की योजना है। प्रसाद वितरण शुरू होते ही मंदिर ट्रस्ट, झारखंड सरकार और डाक विभाग को लाखों के राजस्व का लाभ मिलने लगेगा।

मंदिर ट्रस्ट और डाक विभाग के बीच बात चल रही है। जल्द करार होने की उम्मीद है। करार होते ही प्रसाद की ऑनलाइन बुङ्क्षकग और होम डिलीवरी का काम शुरू कर दिया जाएगा। एग्रीमेंट के दौरान ही प्रसाद की कीमत तय होगी। - आरपी प्रसाद, डाक अधीक्षक, भागलपुर परिमंडल।  

Edited By: Abhishek Kumar