संवाद सूत्र, सुल्तानगंज, भागलपुर : सावन की अंतिम सोमवारी को लेकर रविवार को अजगवीनाथ धाम में लगभग 30 हजार कांवरियों ने उत्तरवाहिनी गंगा में स्नान कर बाबा अजगवीनाथ की पूजा अर्चना की। इसके बाद कांवरों में भरे जल का संकल्प लेकर बोल बम के जयकारे के साथ देवघर के लिए प्रस्थान किया। इस बार मेले में कांवरियों ने कुछ अलग ही नारों-जयकारों की खोज की है। इन जयकारों से सुल्तानगंज गुंजायमान रहा। वहीं, मेले में जिला प्रशासन के निर्देश पर सभी विभाग के अधिकारी अपने-अपने कार्य पर मुस्तैद दिखे।

  • -नए-नए नारे और जयकारे उल्लास में बाबा धाम जा रहे कांवरिया
  • -अंतिम सोमवारी को 153 महिलाओं सहित 5919 डाकबमों ने लगाई दौड़
  • -करीब 30 हजार रही सामान्य बमों की संख्या
  • -पर्ची कटाने के लिए काउंटर पर लगी रही डाक बमों की भीड़

डाक बम जाने वाले कांवरियों को

डाक बम पर्ची निर्गत किया जाता है। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी पर्ची निर्गत करने के लिए चार जगह काउंटर बनाए गए हैं। नमामि गंगे घाट, अजगवीनाथ मंदिर सीढ़ी घाट, प्रखंड मुख्यालय परिसर और कृष्णगढ़ मुख्य नियंत्रण कक्ष में पर्ची की व्यवस्था की गई है। सर्वाधिक भीड़ डाक बमों की कृष्णगढ़ नियंत्रण कक्ष और अजगवीनाथ मंदिर सीढ़ी घाट में लगती है क्योंकि लगभग सभी डाकबम अजगवीनाथ की पूजा करके ही बाबा बैद्यनाथ के डाक जलाभिषेक को जाते हैं। हर वर्ष प्रत्येक सोमवारी को डाक बमों की संख्या में वृद्धि हो रही है। अजगवीनाथ धाम से प्रतिदिन डाक बाबा धाम के लिए जा रहे हैं लेकिन सर्वाधिक डाक बम रविवार को यहां से प्रस्थान करते हैं।

महादेव का जयघोष, नए-नए जयकारों से गुंजायमान हुआ सुल्तानगंज

पूरा सुल्तानगंज क्षेत्र कांवरियों से पटा है। धूप, अगरबत्ती के सुगंध से पूरा इलाका सुगंधित हो उठा है वहीं घुंघरू-घंटी की रुनझुन वातावरण में दिव्य अनुभूति देता है। इस बार भक्त इस बार कांवरिया के जयकारे में भी बदलाव देखने को मिल रहा है। कोई कांवरिया हर हर महादेव तो कोई बोल बम बोल रहा है। नए नारे में चार चिलम में चारों धाम, एक चिलम में बाबाधाम जैसे नारे भी लगा रहे हैैं। इसके अलावा, हमारा नेता कैसा हो भोले बाबा जैसा हो आदि कहते देवघर की ओर बढ़े जा रहे हैं। नया नारा है- बोलो बम हंस के, पानी बरसे कसके..., चार चवन्नी चांदी की, जय बोलो बाबा दानी की..., जो बाबा को भूलेगा, हाथ-पैर फूलेगा।

Edited By: Shivam Bajpai