भागलपुर [जेएनएन]। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पटना कार्यालय में हुई छापेमारी के विरोध में परिषद् कार्यकर्ताओं ने रविवार खलीफाबाग चौक पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का पुतला जलाया। इस मौके पर नगर मंत्री कुणाल तिवारी ने कहा कि अपनी शक्ति का दुरुपयोग करते हुए बिहार सरकार द्वारा बिना कारण विद्यार्थी परिषद कार्यालय में छापेमारी करवाई गई, जो काफी निंदनीय है।

जिला संयोजक कुश ने बताया पटना विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव हो रहा है। छात्र जदयू की हार देखकर बौखलाहट में नीतीश कुमार ने विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में छापेमारी करवाई गई है। विद्यार्थी परिषद इसका पुरजोर विरोध करती है तथा मांग करती है कि जिनके द्वारा जानबूझकर ऐसा कुकृत्य किया गया है, उसे अविलंब बर्खास्त किया जाए। नहीं तो विद्यार्थी परिषद ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकने का कार्य करेगी। मौके पर अभाविप के संगठन मंत्री अमित छोटी, जयप्रीत मिश्रा, गौरव चौबे, प्रशांत, करण शर्मा,भानु प्रताप,अभिषेक मिश्रा,अमित मिश्र आदि मौजूद थे।

वहीं, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पटना कार्यालय में पुलिस द्वारा की गई छापेमारी के विरोध में नवगछिया इकाई के द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का वैशाली चौक पर पुतला दहन किया गया। अभाविप के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य ने कहा कि मुख्यमंत्री हमारे कार्यकर्ताओं को झूठे मुकदमे में फंसा रहे हैं। शनिवार की मध्य रात्रि पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए प्रदेश कार्यालय में छापेमारी की। पुलिस द्वारा प्रदेश कार्यालय में छापेमारी काफी निंदनीय है। सरकार पटना विश्वविद्यालय के चुनाव की घोषणा होते ही ऐसा कर रही है। चुनाव में जदयू अपने पार्टी के उम्मीदवार को जीताने का प्रयास कर रही है। इस मौके पर नगर मंत्री राहुल राजपाल, अविनाश कुमार, संतोष, बिट्टु, आशीष, सोनू, दिनकर, सिंपल, मिथुन, अवनीश, दिपक, अजीत सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस