संवाद सूत्र, झाझा (जमुई)। झाझा प्रखंड के बलियाडीह पंचायत में मुखिया का फर्जी हस्ताक्षर कर 25 लाख की अबैध निकासी कर लिये जाने का एक मामला प्रकाश में आया है। उक्त राशि एक बार में नहीं बल्कि 24 बार चेक के माध्यम से निकाली गई है। वो भी मात्र दस माह के बीच। मुखिया ने फर्जी हस्ताक्षर करने का आरोप पंचायत सेवक श्रीकांत तिवारी के उपर लगाया है। एक चेक प्रखंड विकास पदाधिकारी झाझा के नाम पर भी काटा गया है। इसकी भनक मुखिया बबिता देवी को तब लगी जब पंचायत के पंचायत सेवक सेवानिवृत हुए।

मुखिया ने पंचम एवं 14वी वित्त का खाता अपडेट किया। खाता से लाखों की निकासी हो चुकी थी। मुखिया ने पंचम एवं 14वीं वित्त के अबैध राशि के निकासी मामले में जिलाधिकारी को एक पत्र लिखा है। जिसमें चेक का विवरण भी दी गई है। मुखिया ने कहा कि बलियाडीह पंचायत के पंचायत सेवक श्रीकांत तिवारी द्वारा मेरा फर्जी हस्ताक्षर कर पंचम एवं 14वीं वित्त खाते से लाखों रुपये निकासी कर ली और सभी राशि का गबन कर लिया। दक्षिण बिहाार ग्रामीण बैंक एकडरा में पंचायत सेवक ने मुखिया का फर्जी हस्ताक्षर भेजा। तथा सरकारी मदो की राशि फर्जी हस्ताक्षर कर निकासी कर लिया गया। पंचम वित्त में 13 अप्रैल 2020 से 8 फरवरी 2021 के बीच 13 बार चेक काट कर 1464394 रूपया निकाल लिया।

उन्‍होंने कहा कि पंचायत सेवक ने अपने नाम पर 10 बार चेक काटा है जबकि एक चेक दो लाख का राजकुमार, दो लाख दो हजार एक सौ का अमन स्पोर्ट झाझा, 117294 हरि ओम कम्प्यूटर जमुई का चेक सामिल है। दूसरी ओर 14वीं वित्त में 18 जुलाई 2020 से 29 जनवरी 2021 तक में 11 बार चेक काट कर 1102500 रूपया निकासी की गई है। जिसमें पंचायत सेवक छह बार अपने नाम का चेक काटा है। वही देव ट्रेडर्स के नाम पर दो बार 250000, बीडीओ झाझा के नाम पर 180000 एवं शिव इंटर प्राईजेज लखीसराय के नाम पर दो बार 307500 का चेक निगत हुआ है।

मुखिया ने पंचायत सेवक श्रीकांत तिवारी पर मुखिया का फर्जी हस्ताक्षर कर अवैध तरीके से राशि का निकासी करने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने जिलाधिकारी से जल्द मामले की जांच कर आरोपी पंचायत सेवक के विरूद्ध कानूनी कारवाई की मांग की। इस मामले में प्रखंड विकास पदाधिकारी दीपेश कुमार ने बताया कि पंचायत सेवक श्रीकांत तिवारी सेवानिवृत हो गये है। मुखिया एवं पंचायत सेवक के बीच विवाद चल रहा है। हालांकि इसकी जानकारी मुखिया ने बीडीओ को नहीं दी है।

 

Edited By: Dilip Kumar Shukla