संवाद सहयोगी, जमुई। झाझा थाना क्षेत्र के धमना गांव में बुधवार की देर रात चार की संख्या में आए हथियार बंद अपराधियों ने रिटायर स्वास्थ्य कर्मी देवेंद्र प्रसाद रावत के घर में जमकर उत्पाद मचाया। इस दौरान रिटायर स्वास्थ्य कर्मी और उनकी पत्नी सकुन्तला देवी को हाथ-पैर बांधकर लाखों रुपया नगद, जेवरात, मोबाइल, गाड़ी की चाभी समेत घर का पूरा सामान लूट लिया। उसके बाद रिटायर्ड स्वास्थ्य कर्मी की पीट-पीटकर हत्या कर दी और फरार हो गए। किसी तरह देर रात 1:45 बजे उनकी पत्नी का बंधे हाथ की रस्सी ढीली पड़ी और वह छूट कर पड़ोस के घर चली गई। फिर इसकी सूचना इसकी सूचना पटना में रह रहे अपने छोटे पुत्र विक्रम को दी।

मामले की सूचना पुलिस को दी गई।  सूचना के बाद रात तकरीबन दो बजे घटना स्थल पर पहुंची पुलिस द्वारा रस्सी से बंधे वृद्ध को खोला गया, उस वक़्त वृद्ध की मौत हो चुकी थी। फिलहाल अपराधियों की पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन हत्या का कारण भूमि विवाद बताया जा रहा है। मृतक के छोटे पुत्र विक्रम ने बताया कि बताया कि वे चार भाई और एक बहन हैं। सभी भाई अलग-अलग जगहों पर जाब व बिजनेस करते हैं और बहन भी पटना में रहकर कंपीटिशन की तैयारी करती है। घर पर सिर्फ उनके पिता और मां अकेली रहती है। उनके पिता दो भाई हैं। उनके चाचा देवशरण रावत जो धनबाद में रहते हैं।

जमीन के बंटवारे को लेकर उनके चाचा से कई वर्षों से विवाद चल रहा है। जिस वजह से तकरीबन 15 बीघा जमीन ऐसे ही पड़ी हुई है। उनके बड़े चाचा जमीन का बंटवारा करना नहीं चाहते हैं। इसको लेकर कई बार झगड़ा भी हुआ था। मृतक के पुत्र ने अपने चाचा देवशरण रावत और चाची माला देवी पर हत्या करवाने की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि सुनियोजित ढंग से हत्या कर चोरी का रूप दिया गया है। फिलहाल पीड़ित परिवार द्वारा थाना में आवेदन नहीं दिया गया है। पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी हुई है।

Edited By: Shivam Bajpai