जागरण टीम, मधेपुरा: 73वें गणतंत्र दिवस के मौके पर देशभर में ध्वजारोहण किया गया। स्कूलों और संस्थानों में भी राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। इसी क्रम में बिहार के मधेपुरा जिले झंडा फहराने को लेकर जमकर विवाद हुआ। मामले जिले के पुरैनी कस्तूरबा गांधी स्थित आवासीय बालिका विद्यालय का है। यहां संचालक राजेश कुमार व वार्डन श्वेता भारती के बीच झंडोत्तोलन को लेकर विवाद हो गया। दोनों झंडोत्तोलन पर उतारू हो और काफी देर तक नोकझोंक की। इस बीच दोनों ने पोल से बंधी रस्सी को एक साथ ही झगड़ते हुए अपनी अपनी तरफ खींच दी। ये पूरा नजारा वहां खड़े लोगों ने अपने मोबाइल फोन के कैमरे में कैद कर लिया।

उक्त पूरे मामले का वीडियो व्हाट्स ऐप पर तेजी से वायरल हो गया है। जागरण डाट काम को भी ये वीडियो प्राप्त हुआ, जिसमें मैडम और सर के बीच हुए विवाद को देखा जा सकता है। जहां एक तरफ राजेश कुमार कह रहे हैं कि झंडा तो हम ही फहराएंगे, तो वहीं मैडम भी कह रही हैं, 'ऐसे कैसे, झंडा हम फहराएंगे।' इसी विवाद के क्रम में राजेश सर पोल से बंधी हुई डोर को अपनी तरफ खींचते हैं, तो मैडम उन्हें धक्का देते हुए डोर के दूसरे सिरे को थाम लेती हैं और दोनों लोग विवाद करते हुए ही ध्वजारोहण कर देते हैं। इस दौरान मैडम ने ये भी कहा कि आप 15 अगस्त में फहराहिए चुके हैं, 26 जनवरी में हम फहराएंगे।

उधर मौके पर मौजूद शिक्षक स्थानीय लोगों को डोर खींचते हुए राजेश सर कहते हैं राष्ट्रगान गाइए और सभी लोग सुर पर सुर मिलाकर राष्ट्रगान गाने लगते हैं। इसके बाद 52 सेकेंड पूरे विवाद को शांत करता हुआ दिखाई देता है। मामले के बारे में अभी तक वरीय अधिकारियों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। उधर विवाद पद को लेकर हुआ है, ऐसा कहा जा रहा है।

 पूरे वीडियो को देखकर लोग यही कह रहे हैं कि इस तरह के विवाद समाज को क्या ही संदेश देते हैं, ये शिक्षक को खुद समझना होगा। आप भविष्य निर्माता है। आपसी सुलह से दोनों एक साथ ध्वज फहरा सकते थे। खैर जो भी हो, गणतंत्र दिवस हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। उक्त विद्यालय में जलेबी बंट चुकी है, सभी अपने घर की ओर जा चुके हैं।

(नोट: दैनिक जागरण किसी भी वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। ग्राउंड जीरो से मिल रही सूचनाओं और साक्ष्य के आधार पर खबर लिखी गई है।)

Edited By: Shivam Bajpai