जागरण संवाददाता, भागलपुर। जन अधिकार पार्टी के महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्ष रानी चौबे सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार पर खूब बरसीं। एक होटल में प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि वह भागलपुर से चुनाव लडऩा चाह रही थी, लेकिन उनके नामांकन को रद करा दिया गया। लेकिन इसके बाद भी उन्हें पप्पू यादव ने महिला प्रकोष्ठ का राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किया। 

नगर निगम के अफसरों पर भी वह खूब बरसीं। कहा, भागलपुर आज कचरे के ढेर पर है, लेकिन इससे किसी को कोई मतलब नहीं है। काम नहीं करने वाले जनप्रतिनिधियों का विरोध करना चाहिए। स्मार्ट सिटी के अधिकारियों पर आरोप लगाया कि उन्हें बैठक की सूचना नहीं दी जाती है, जबकि वह एडवाइजरी कमेटी की सदस्य है।

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर भी सरकार को घेरा

पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि को लेकर भी उन्होंने सरकार पर निशाना साधा। कहा, जनप्रतिनिधि आज तानाशाह की भूमिका में नजर आ रहे हैं। जनप्रतिनिधियों को लोगों के विकास के लिए सोचना चाहिए, लेकिन वे केवल अपने विकास में लगे हैं। लोग महंगाई से जूझ रहे हैं, जबकि जनप्रतिनिधि बड़े-बड़े घर बना रहे हैं। इसके लिए उन्हें पैसे कहां से मिल रहे हैं, इसकी जांच होनी चाहिए। साथ ही महंगाई से जनता को तुरंत राहत दिलाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार से उचित कदम उठाने की मांग की।

अभिभावकों को मिले राहत

कोरोना काल के दौरान स्कूल कॉलेज बंद थे, इसके बाद भी अभिभावकों पर फीस जमा करने के लिए स्कूल और कॉलेज के प्रशासन दबाव डाल रहे हैं। इस पर प्रशासन को ध्यान देना होगा। आज अभिभावकों की कोई सुनने वाला नहीं है। इस पर ध्यान देने की जरूरत है। साथ ही उन्होंने शहर के विकास को लेकर भी चर्चा की। इसके लिए उन्होंने सभी लोगों को मिलकर काम करने को कहा। प्रेसवार्ता के दौरान जन अधिकार पार्टी के कई वरीय नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।  

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021