जागरण संवाददाता, भागलपुर। उम्मीद से कम वर्षा होने की वजह से अभी तक धान का बिचड़ा तैयार नहीं हो पाया है। अभी तक जिले में 81 प्रतिशत बिचड़ा ही खेतों में छींटा जा सका है। रोपनी अभी तक शुरू नहीं हो पायी है। इस वर्ष जून और जुलाई में काफी कम वर्षा हुई है। जिला कृषि कार्यालय के अनुसार जून में 120.86 मिली मीटर और जुलाई में 8.15 मिली मीटर वर्षा हुई है। जून में 34.2 व जुलाई में 77.39 मिली लीटर कम वर्षा हुई है। पिछले साल जून में 308.38 व जुलाई में 263.43 मिली लीटर वर्षा हुई थी। 2020 में जून में 190.29 व जुलाई में 333.78 मिली लीटर वर्षा हुई थी। 2019 में जून में 82.76 व जुलाई में 370.43 और 2018 में जून में 132.16 व जुलाई में 243.83 मिली लीटर वर्षा हुई थी। जून में सामान्य वर्षा 183.17 व जुलाई 36.05 मिली लीटर होना चाहिए। कम वर्षा होने की वजह से अभी तक खेत में बिचड़ा तैयार नहीं हो पाया है। अगर अच्छी वर्षा होती है तो 15 जुलाई के बाद कुछ स्थानों पर धान की रोपनी शुरू हो जाएगी। फिलहाल किसान आसमान की ओर टकटकी लगाए हुए हैं।

किसानों को नहीं मिल रहा डीएपी

जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार सोमवार को खाद संकट को लेकर जिला कृषि पदाधिकारी से फोन पर बात की। उन्होंने कहा कि डीएपी को लेकर किसान परेशान हैं। उन्हें डीएपी नहीं मिल रहा है। जिला कृषि पदाधिकारी का कहना था कि पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध है। अभी कोई भी किसान लेने नहीं आ रहे हैं। जिला परिषद अध्यक्ष इस मामले को लेकर मंगलवार को जिलाधिकारी से मुलाकात करेंगे। खरीफ फसल के लिए जिले में 28 हजार मीट्रिक टन खाद की आवश्यकता होगी। 8852.19 मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति हुई है और 6031.965 एमटी उपलब्ध है। 85 सौ एमटी डीएपी की आवश्यकता है। 3283 एमटी आपूर्ति हुई है और 3084.70 एमटी उपलब्ध है। पांच हजार एमटी एनपीके की आवश्यकता है। 1114 एमटी आपूर्ति हुई है और 2252.45 एमटी उपलब्ध है। 36 सौ एमटी एमओपी की आवश्यकता है। 350 एमटी आपूर्ति हुई है और 330 एमटी उपलब्ध है। 26 सौ एमटी एसएसपी की आवश्यकता है। 92 एमटी आपूर्ति हुई है और 320.10 एमटी खाद उपलब्ध है।

प्रखंड धान की रोपाई (हेक्टेयर में)

  • जगदीशपुर 3592
  • गोराडीह 7317
  • पीरपैंती 4246
  • कहलगांव 4752
  • सन्हौला 9800
  • शाहकुंड 10036
  • नाथनगर 3500
  • सबौर 1401
  • नवगछिया 364
  • बिहपुर 300
  • खरीक 293
  • रंगरा 260
  • नारायणपुर 350

बीज वितरण कार्य समय पूर्व हो गया है। अभी तक 81 प्रतिशत बिचड़ा खेत में डाला गया है। इस सप्ताह बिचड़ा गिराने का कार्य पूरा हो जाएगा। - कृष्ण कांत झा, जिला कृषि पदाधिकारी

Edited By: Dilip Kumar Shukla