जागरण संवाददाता, कटिहार: जिले के सहायक थाना अंतर्गत ऑफिसर्स कॉलोनी में खनन विभाग के ओएसडी के भाई का आवास है। यहां विजिलेंस की टीम ने छापेमारी की। वहीं, इन्हीं के घर के आवास के पास रत्ना चटर्जी के घर पर भी छापेमारी हुई, जहां से बड़ी मात्रा में सोने के बिस्किट, 30 लाख रुपये कैश बरामद किए गए। आवास के बाहर सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है।

जानकारी मुताबिक, किशनगंज सीडीपीओ रत्ना चटर्जी के मकान में खनन विभाग ओएसडी मृत्युंजय कुमार आते जाता रहता था। इसके चलते स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने उनके घर पर भी छापेमारी की। इसके अलावा कटिहार में जिस घर पर छापेमारी की गई है, वो धननंजय कुमार वर्मा का बताया जा रहा है। धननंजय रेलवे के रिटायर कर्मी और निगरानी विभाग के ओएसडी मृत्युंजय कुमार के बड़े भाई है। दोनों के घरों पर छापेमारी की गई है।

  • सहायक थाना क्षेत्र मुंसी यादव कॉलोनी में रहता है ओएसडी मृत्युंजय कुमार
  • निगरानी की टीम लॉकर तोड़ने वाले को बुलाया गया निवास पर ..
  • लॉकर तोड़ने वाले ने कहा - सहायक थाना पुलिस के बुलाने पर गया था आवास पर, तीन लॉकर तोड़े गए।

निगरानी यूनिट के डीएसपी चंद्रभूषण ने कहा, 'निगरानी की यूनिट वर्ष 2011 में नौकरी से बर्खास्त सीडीपीओ रत्ना चटर्जी के आवास को खंगालने आयी है। आय से अधिक मामलों में तलाशी ली जा रही है। खनन विभाग का ओएसडी मृत्युंजय कुमार रत्ना चटर्जी के आवास पर आता जाता था । मृत्युंजय कुमार के बड़े भाई धनंजय के घर पर भी  तालशी चल रही है।'

  • रत्ना चटर्जी के आवास से मिला 30 लाख कैश, प्रॉपर्टी के कई कागजात, सोने की ढेर सारी बिस्किट। आकलन के लिए वैल्युअर को बुलाया गया है। 

पढ़ें ये खबर: बिहार में लौटेगा सिंघम, खत्म हो जाएगा अपराधियों का खौफ

शुक्रवार की सुबह बिहार से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां विशेष निगरानी इकाई टीम ने खनन विभाग के ओएसडी मृत्युंजय कुमार के कई ठिकानों पर छापेमारी की। मामले में पटना से लेकर अररिया और कटिहार तक छापेमारी की गई।  ये बड़ी कार्रवाई कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद की गई। 

पढ़ें ये खबर: नशे के खिलाफ बिगुल फूंकने वाले किशनगंज SP कुमार आशीष को किया जाएगा सम्मानित, चार पुलिसकर्मियों में इकलौते अधिकारी

Edited By: Shivam Bajpai