जागरण संवाददाता, पूर्णिया। जब नियम के रखवाले ही कानून तोडऩे लगे तो, फिर भगवान ही मालिक। सहायक खजांची के जिन टाइगर मोबाइल के जवानों के कंधे पर आम लोगों की सुरक्षा व्यवस्था के साथ- साथ कानून के पालन कराने की जिम्मेदारी है वहीं खुलेआम कायदे कानून की धज्जी उड़ाने पर आमदा हैं। ऐसा ही कुछ मामला सहायक खजांची थाने में सामने आया है। यहां थाने में जब्त मोटरसाइकिल का उपयोग लंबे समय से पुलिस के जवानों द्वारा गश्ती के लिए किया जाता रहा और इस ओर किसी ने झांकना तक मुनासिब नहीं समझा।

अब मामला सामने आने के बाद पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने इस मामले में कड़ा रूख अपनाते हुए जांच का निर्देश दिया है। सहायक खजांची में जब्त पल्सर टी 20 मोटरसाइकिल का उपयोग दो टाइगर मोबाइल के जवानों द्वारा किए जाने की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। इस तस्वीर में सहायक खजांची थाने में पदस्थापित टाइगर मोबाइल के जवान रामवरण एवं मुकेश कुमार नामक जवान इस मोटरसाइकिल की सवारी करते हुए वर्दी में नजर आ रहे हैं।

सबसे हैरत की बात तो यह है की इस मोटरसाइकिल के आगे मोटे अक्षरों में पुलिस लिखा हुआ है। ताकि हर किसी को इस बात का पता चल सके की यह वाहन पुलिस का है। इस संबंध में पूछे जाने पर टाइगर मोबाइल के जवान रामवरण ने बताया कि उन्हें पता नहीं यह मोटरसाइकिल किसकी है लेकिन जब वे सहायक खजांची थाना टाइगर मोबाइल के रूप में गए थे तो उन्हें दिया गया था।

जब वे हटाए गए तो उन्होंने इस वाहन को वापस कर दिया। लेकिन उनके पास इस सवाल का जवाब नहीं है कि उनके द्वारा उपयोग में लाई जाने वाली मोटरसाइकिल किसकी थी। उनके द्वारा बताया गया कि इस संबंध में जानकारी थाना के बड़ा बाबू ही दे सकते हैं। इस संबंध में सहायक खजांचाी के प्रभारी थाना अध्यक्ष संजय कुमार ङ्क्षसह ने कहा कि उन्हें भी इस बात की जानकारी नहीं है की यह मोटरसाइकिल किसकी है।

एसपी ने कहा कि टाइगर मोबाइल के मिली है सरकारी मोटरसाइकिल

इस मामले में एसपी दयाशंकर ने बताया कि शहरी क्षेत्र के थानों में जो टाइगर मोबाइल के जवान तैनात किए गए हैं, उन्हें मोटरसाइकिल सरकारी गश्ती के लिए दी गयी है। इसके अलावा कुछ जवान जिनके पास खुद की मोटरसाइकिल है, उन्हें गश्ती के लिए हर दिन पुलिस केन्द्र से ईंधन उपलब्ध कराया जाता है ताकि वे आसानी से अपने निर्धारित क्षेत्र में गश्ती कर सके। लेकिन इसके अलावा थाने में जब्त वाहन का किसी पुलिस कर्मी द्वारा उपयोग किया जाना काफी गंभीर मामला है और इस मामले में जांच बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

थाने में जब्त वाहन का गश्ती में किसी पुलिस कर्मी द्वारा उपयोग किया जाना काफी गंभीर मामला है। इसकी जांच कराई जाएगी और जिम्मेवार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। -दयाशंकर, एसपी, पूर्णिया

 

Edited By: Abhishek Kumar