भागलपुर। सलारपुर दियारा में दिनेश मुनि गिरोह से मुठभेड़ में पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह के शहीद होने के बाद पुलिस दियारा में बड़े कांबिंग ऑपरेशन की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए आइजी सुशील मानसिंह खोपड़े ने शनिवार को विशेष टीम गठित की है। यह टीम अपराधियों व डकैतों के विरुद्ध कांबिंग अभियान चलाएगी। इसके अलावा मुख्यालय से भी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ), चीता और अन्य फोर्स की मांग की गई है।

आइजी ने भागलपुर रेंज के डीआइजी विकास वैभव और मुंगेर रेंज के डीआइजी जितेन्द्र मिश्रा को दियारा में चलने वाले कांबिंग ऑपरेशन की मॉनीट¨रग का निर्देश दिया है। इस अभियान में एडिशनल एसपी (अभियान) समेत तीन डीएसपी को लगाया गया हैं। इसमें बेगुसराय के एडिशनल एसपी (अभियान) अमृतेष कुमार, नवगछिया एसडीपीओ प्रवेंद्र भारती, पुलिस उपाधीक्षक (मुख्यालय) मुंगेर शिवली नोमानी, खगड़िया के एसडीपीओ प्रमोद कुमार झा को लगाया गया है। कांबिंग ऑपरेशन की टीम को सहयोग करने के लिए एक यूनिट एसटीएफ बल, जमालपुर मुंगेर से एवं बेगुसराय जिला बल में गठित चीता बल को खगड़िया जिला में प्रतिनियुक्त किया गया है।

--------------

मुख्यालय से मांगा गया एसटीएफ

दियारा में कांबिंग के लिए आइजी ने मुख्यालय से भी एसटीएफ समेत अन्य फोर्स की मांग की है, जो खगड़िया को मिल गई है। मुख्यालय से भी एसटीएफ की टीम को डीएसपी रैंक के पदाधिकारी के साथ खगड़िया के लिए रवाना किया गया है। हालांकि थानाध्यक्ष के शहीद होने की सूचना पर जिला पुलिस ही काफी देर तक दियारा में कांबिंग करती रही। मगर अपराधियों का पता नहीं चल सका।

--------------------

कोट :

दियारा में अपराधियों-डकैतों के विरुद्ध कांबिंग के लिए पांच जिलों के अफसरों और फोर्स के साथ टीम गठित की गई है। ऑपरेशन के लिए मुख्यालय से भी फोर्स की मांग की गई है। दियारा में अपराधियों के खिलाफ ऑपरेशन की मॉनीट¨रग भागलपुर और मुंगेर रेंज के डीआइजी करेंगे। मैं खुद इसकी हर दिन समीक्षा करुंगा।

- सुशील मानसिंह खोपड़े, आइजी, भागलपुर

-------------

Posted By: Jagran