मुंगेर। एक ओर सरकार बिहार में नशा मुक्ति आंदोलन चला रही है। इसके तहत बिहार भर में पुलिस और कई विभाग काम कर रहे हैं। मुंगेर जिले के कोने कोने में पुलिस नशामुक्ति आंदोलन चलाने के लिए कई संगठनों का सहयोग ले रही है। वहीं नशेड़यिों और शराबियों के खिलाफ जमकर अभियान चलाए जा रहे हैं। रोजाना पुलिस और उत्पाद विभाग द्वारा छापामारी की जाती है। लेकिन दूसरी ओर मुंगेर रेलवे स्टेशन का नजारा सरकार और जिले के नशामुक्ति अभियान का खुले आम मजाक उड़ाता नजर आता है। मुंगेर रेलवे स्टेशन के बड़े से परिसर और क्षेत्र में रोजाना शराबियों, नशेड़यिों और जुआड़यिों की महफिल सजती है। जहां स्टेशन परिसर के आसपास के इलाकों में पुलिस और रेलपुलिस के नाक के नीचे खुलेआम शराब की बिक्री होती है। वहीं स्टेशन परिसर में बेफिक्र होकर गांजा का दम भरने वाले धुआं उड़ाते हैं । वहीं रेल पुलिस के द्वारा यात्रियों की सुरक्षा का दंभ भरना कोरा कागज साबित हो रहा है। मुंगेर स्टेशन पर रेलवे के द्वारा सुरक्षा मुहैया नहीं कराने के कारण जहां खुलेआम जुआरियों का जमावड़ा लगा रहता है। वहीं परिसर के अंदर ही गांजा का दम भरते हुए लोग भी दिखते हैं। मुंगेर से खगड़यिा और बेगूसराय जाने वाले यात्रियों मुकेश कुमार, मनोज कुमार, पंकज घोष, सरिता कुमारी ने कहा कि मुंगेर स्टेशन परिसर में इस तरह से खुलेआम नशा का सामान बेचा जाता है। वहीं गांजा पीने वालों से यात्रियों को भी परेशानी होती है। कई बार यात्रियों ने मौखिक तौर पर प्लेटफार्म की सुरक्षा में तैनात जीआरपी जवानों को इसकी शिकायत की है लेकिन स्टेशन परिसर पर गांजा और जुआ के खेल को बंद नहीं कराया गया है। खगड़यिा जाने वाले यात्री मुकेश कुमार ने कहा कि स्टेशन परिसर में जुआ का खेल चलने से आने वाले कुछ यात्री भी इस खेल में अपनी किस्मत आजमाने के चक्कर में जेब में रखी पूंजी को गंवा बैठते हैं। वहीं शाम होते ही स्टेशन के बाहर खड़े आटो, ई-रिक्शा चालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

---

मुंगेर रेलवे स्टेशन पर होने वाले अवैध रुप से यात्रियों से किराया वसूली और परिसर के अंदर चलने वाले जुआ और गांजा के उपयोग की जानकारी मिली है। जल्द ही मुंगेर स्टेशन का निरीक्षण करने जाऊंगा । वहीं दोषियों पर रेलवे एक्ट और उत्पाद अधिनियम एक्ट के तहत कार्रवाई किया जाएगा ।

कामेश्वर ¨सह, थानाध्यक्ष जमालपुर रेल थाना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप