जागरण संवाददाता, खगड़िया। Omg! ब‍िहार के खगड़‍िया में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। यहां के एक बैंक उपभोक्‍ता के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। बैंक उपभोक्‍ता को लगा क‍ि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसके खाते में साढ़े पांच लाख रुपये भेजे हैं। उन्‍होंने कहा क‍ि पीएम ने वादा किया था क‍ि सभी के खाते में रुपये भेजे जाएंगे। इसी क्रम में उन्‍हें भी ये रकम आयी होगी। यही सोचकर वो काफी खुश भी हुए और उन्‍होंने रुपये न‍िकालकर खर्च भी कर द‍िए। लेकिन बाद में मामला कुछ और ही निकला, जिसके लिए अब उन्हें जेल भेजने की कवायद की जा रही है।    

जानकारी के अनुसार, बैंक ने भूल से रंजीत दास के खाते में साढ़े पांच लाख रुपये भेज दिए। बैंक को जब अपनी भूल का आभास हुआ, तो खाताधारी से साढ़े पांच लाख वापस करने को कहा। मगर खाताधारी ने इस खुशी में सारे पैसे खर्च कर दिए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें साढ़े पांच लाख की रकम भेजी है। अब वे वापस नहीं करेंगे। बैंक द्वारा कई बार वापसी को लेकर नोटिस दी गई। बावजूद जब राशि वापस नहीं की गई, तो बैंक द्वारा केस दर्ज कराया गया। इसके बाद मानसी पुलिस द्वारा रंजीत दास को गिरफ्तार कर लिया गया। वह समीप के बख्तियारपुर गांव का रहने वाला है। मानसी थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि ग्रामीण बैंक द्वारा केस दर्ज कराया गया था। गिरफ्तार रंजीत को जेल भेजने की प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

यह भी पढ़ें: पटना की होशियार BDS स्टूडेंट जूली बन गई NEET एग्जाम की साल्वर, Pk ने दिया था लालच

बैंक ने दी यह दलील 

ग्रामीण बैंक मानसी शाखा के बैंक अध‍िकार‍ियों का कहना है क‍ि गलती से रंजीत के खाते में रुपये चले गए थे। बाद में मिलान होने पर यह पता चला। इसके बाद से लगातार रंजीत को रुपये वापस करने को कहा गया, लेकिन तब तक रंजीत ने सारा रुपये खाते से न‍िकाल ल‍िए हैं। इसके बाद रंजीत से संपर्क क‍िया गया तो उसने बताया कि पीएम मोदी ने रुपये भेजे हैं, मैं वापस नहीं करूंगा।  जब रुपये वापस नहीं किया गया तो बैंक को पुलिस के पास श‍िकायत दर्ज करानी पड़ी।

यह भी पढ़ें: बिहार में दो बच्चे अचानक बन गए Rs. 960 करोड़ के मालिक, कटिहार के बैंकों में सभी चेक करने लगे अपना खाता

यह भी पढ़ें - कटिहार के दो स्‍कूली बच्चों के खाते में कहां से आए नौ अरब रुपये, जानिए... शाखा प्रबंधक ने क्‍या कहा

Edited By: Dilip Kumar Shukla