संवाद सहयोगी, बौंसी (बांका): इन दिनों बरसात के मौसम शुरु होते ही अस्पताल में मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है। मंगलवार को दैनिक जागरण की पड़ताल में दोपहर 11 बजे तक करीब एक सौ मरीज ओपीडी में उपचार कराने पहुंच चुके थे। ड्यूटी पर मौजूद डा उत्तम कुमार ने बताया कि बदलते मौसम के बीच वयस्क लोगों में ज्यादातर वायरल बुखार, सर्दी, खांसी एवं गैस की समस्या को लेकर ज्यादा मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। उमस एवं गर्मी के कारण लोगों में अनपच की समस्या ज्यादा हो रही है। इसके अलावा बच्चों में मुख्य रूप से टाइफाइड, डायरिया ,उल्टी ,पेट दर्द के मरीज ज्यादा पहुंच रहे हैं। ओपीडी में हर दिन 200 से ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं। डा ने बताया कि बदलते मौसम में थोड़ी सावधानी से स्वस्थ रहा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: पकड़ौआ विवाह, जब सीआरपीएफ का ज्वाइनिंग लेटर की खबर सुन बनवा दी गई जबरन जोड़ी

मरीजों को सावधानी बरतने की जरुरत

इसके लिए ताजा भोजन, स्वच्छ पेयजल के साथ खाना चाहिए। बाहर के तेल एवं मसालेदार भोजन से बिल्कुल परहेज करना चाहिए। बरसात के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए शुद्ध पेयजल की बहुत ही आवश्यकता होती है। गर्म पानी का सेवन करना काफी फायदेमंद रहता है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल नहीं मिलने से बरसात में लोग ज्यादातर बीमार होते हैं।

  • उमस एवं गर्मी के कारण लोगों में अनपच की बढ़ रही समस्या
  • 200 से अधिक मरीज पहुंच रहे ओपीडी
  • 11 बजे तक सौ से अधिक मरीज पहुंचे थे

श्याम बाजार क्षेत्र से रेफरल अस्पताल उपचार कराने पहुंचे मरीज ममता देवी, उषा देवी, राकेश चौधरी, विमल साह आदि को वायरल बुखार की समस्या रही। वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस बीच कोरोना जांच भी तेज कर दिया है। रेफरल अस्पताल उपचार कराने पहुंच रहे मरीजों की पहले कोरोना जांच की जाती है।

Edited By: Shivam Bajpai