भागलपुर। सबौर से पुलिस ने कोहड़ा गैंग के बदमाश कटिहार जिले के जुराबगंज, कोढ़ा निवासी टिंकू उर्फ सतीश कुमार को गुरुवार को गिरफ्तार किया है। वह सबौर की एसबीआइ शाखा के समीप रुपये लेकर निकलने वाले ग्राहक से छिनतई के लिए घात लगाकर बैठा था। उसके पास से एक पासबुक और एक मोबाइल पुलिस ने बरामद किया है। उसने शहर में हुई करीब आधा दर्जन छिनतई की वारदात में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। यह जानकारी एसएसपी आशीष भारती ने शुक्रवार को अपने कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में दी है। रेकी की जानकारी मिलते ही एसएसपी ने कराई घेराबंदी

एसएसपी को सूचना मिली कि कोढ़ा गैंग के कुछ बदमाश सबौर की एसबीआइ शाखा के पास ग्राहकों की रेकी कर रहे हैं। इसके बाद उन्होंने लॉ एंड आर्डर डीएसपी निसार अहमद शाह, सबौर थानेदार अजय कुमार अजनबी और घोघा थानेदार शंभू पासवान को मौके पर भेजा। पुलिस को देख सतीश के दो अन्य साथी भागने में सफल हो गए। पुलिस को उनके नाम पता की जानकारी हो गई है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। तीन माह में आधा दर्जन वारदात को दिया अंजाम

सतीश ने पुलिस के समक्ष कई अपराध को स्वीकार किया है, जिसमें 10 दिसंबर को सुल्तानगंज इलाके में हुई डेढ़ लाख की छिनतई, पांच दिसंबर को हुई एक लाख की छिनतई, 15 नवंबर को सबौर इलाके से 50 हजार रुपये की चोरी, चार अक्टूबर को शिवनारायणपुर में 60 हजार की छिनतई, सात नवंबर को बाइक की डिक्की से 1.62 लाख की चोरी, सात दिसंबर को सैंडिस कंपाउंड के उत्तरी गेट के समीप 1.40 लाख की छिनतई की घटना शामिल है। 29 सितंबर को एक और गुर्गा चढ़ा था पुलिस के हत्थे

भागलपुर पुलिस ने 29 सितंबर को कटिहार जिले के कोढ़ा इलाके के जुराबगंज निवासी राजकपूर यादव उर्फ रंजन कुमार यादव को दबोचा था। वह भी कोढ़ा गैंग का बदमाश था। उसने 26 सितंबर को आदमपुर में व्यवसायी शंकर अग्रवाल का चार लाख और तिलकामांझी जेल रोड में पीरपैंती के पीताबंर प्रसाद से 70 हजार रुपये छिन लिए थे। बिहार व झारखंड के कई जिलों में कर चुका है वारदात

एसएसपी ने बताया कि सतीश ने बिहार-झारखंड के कई जिलों में झपटमारी व छिनतई की वारादात को अंजाम दिया है। कई जिलों में उसके गिरोह का नेटवर्क फैला हुआ है। एसएसपी ने कहा कि दूसरे जिलों को भी सतीश के बारे में पूरी जानकारी भेजी गई है ताकि उसके आपराधिक इतिहास का पता चल सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021