जागरण टीम, अररिया। Nitish cabinet expansion: अररिया जिले के जोकीहाट विधानसभा के विधायक शाहनवाज आलम 2020 में दूसरी बार एआइएमआइएम पार्टी की टिकट से विधायक बने। उन्‍होंने अपने भाई पूर्व सांसद सरफराज आलम को हराकर सनसनी मचा दी थी। पिछले महीने राजनीतिक उलटफेर के कारण तीन अन्य विधायकों के साथ शाहनवाज आलम राजद में शामिल हो गए। चार विधायक को राजद में शामिल कराने में शाहनवाज की बड़ी भूमिका रही। इस कारण ये राजद नेता तेजस्वी यादव के प्रिय और करीबी हो गये।

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से महागठबंधन की सरकार में इन्‍हें मंत्री बनाने का आग्रह किया। नीतीश कुमार की कैबिनेट में उन्‍हें जगह दे दी है। शाहनवाज आलम को बिहार का आपदा प्रबंधन मंत्री बनाया गया है। भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद जदयू ने राजद व कांग्रेस के साथ बिहार में महागठबंधन की सरकार बना ली है।

  • नाम- शाहनवाज आलम
  • विधायक- जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र
  • पार्टी- राजद
  • उम्र: 40 वर्ष
  • शैक्षणिक योग्यता: स्नातक(रामजस कालेज, दिल्ली विश्वविद्यालय) एलएलबी (डीएमडी यूनिवर्सिटी पूणे महाराष्ट्र)
  • संपत्ति: 2, 54, 69, 821
  • बैंक लोन: 7, 61, 366
  • मुकदमा- 01
  • सीमांचल के गांधी कहे जाने वाले तस्लीमुद्दीन के छोटे पुत्र शाहनवाज बने बिहार सरकार के मंत्री
  • पहली बार उपचुनाव में राजद से जोकीहाट विधानसभा से ही दर्ज की थी 2018 में जीत
  • दूसरी बार राजद से टिकट नहीं मिलने पर एआइएमआइएम की टिकट पर जीत की दर्ज
  • बड़े भाई सरफराज आलम को हराकर बदल दिया था राजद का समीकारण
  • पिछले दिनों एआइएमआइएम के तीन अन्य विधायकों को साथ लेकर हुए थे राजद में शामिल

गौरतलब है कि पूर्व मंत्री स्वर्गीय तस्लीमुद्दीन के 2017 में निधन के बाद शाहनवाज के बड़े भाई सरफराज आलम ने जोकीहाट विधानसभा से त्‍यागपत्र देकर लोकसभा उपचुनाव में जीत हासिल की। इसके बाद पहली बार घर में जद्दोजहद के बाद शाहनवाज वर्ष 2018 में जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव जीते। 2020 में हुए विधानसभा चुनाव में राजद से टिकट नहीं मिलने से एआइएमआइएम से चुनाव लड़कर बड़े भाई राजद प्रत्याशी सरफराज आलम को हरा दिया।

Koo App

Edited By: Dilip Kumar Shukla