जागरण संवाददाता भागलपुर। प्रेम सिंह मीणा प्रमंडलीय आयुक्त का पदभार ग्रहण कर लिया। उन्होंने प्रमंडलीय आयुक्त वंदना किनी से पदभार लिया। पदभार ग्रहण करने के बाद प्रमंडलीय आयुक्त मीणा ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर राज्य सरकार द्वारा जो भी गाइडलाइन या दिशा निर्देश जारी किए गए हैं उसे शक्ति से पालन कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को परेशानी नहीं हो और सभी कार्य सुगमता पूर्वक चलती रहे इसका भी ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि हुए उन्हें भागलपुर और मुंगेर जिले का प्रमंडलीय आयुक्त बनाया गयि हैं, इसलिए सभी संबंधित जिलों के बीच समन्वय का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि मैडम के समय में जो कार्य शुरू हुए हैं और जो कार्य शुरू होने वाले थे, उस कार्य को तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका विशेष ध्यान विकास कार्यों पर रहेगा। साथ ही रेवेन्यू कैसे बढ़े इस पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की जो भी योजनाएं चल रही है उसे पूरा कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैम से उन्हें लगातार मार्गदर्शन मिलता रहेगा। वही पूर्व प्रमंडलीय आयुक्त वंदना किनी ने कहा कि भागलपुर छोड़ने का मन नहीं कर रहा है। ढाई वर्षो तक भागलपुर में रही। यहां लोकसभा व विधानसभा शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। पिछले साल कोरोना को लेकर अच्छे कार्य हुए। इस साल भी अच्छे कार्य हो रहे हैं। कोरोना गाइडलाइन और मरीजों को लेकर अच्छे कार्य हो रहे हैं। उनकी इच्छा थी कि वे स्मार्ट सिटी के कार्यों का उद्घाटन कर यहां से जाएं। इसके लिए उन्होंने काफी प्रयास किया। लेकिन 50 फीसद ही इसमें वो सफल हो सके। उनकी इच्छा टाउन हॉल सैंडिस कंपाउंड कंट्रोल एंड कमांड बिल्डिंग का उद्घाटन कर जाने की थी। जिसमें वह सफल नहीं हो सकी। लेकिन काम की गति को तेज कराया गया।

प्रेम सिंह मीणा भागलपुर के जिलाधिकारी रह चुके हैं। वह भागलपुर में 2013 में डीएम थे। प्रेम सिंह मीणा भागलपुर के ऐसे डीएम थे जिन्होंने विक्रमशिला सेतु पर लगने वाले जाम से छुटकारा दिलाने के लिए कई निर्णय लिए थे। उनके कार्यकाल में विक्रमशिला सेतु पर होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति की गई थी। साथ ही जाम से निजात के लिए क्रेन खरीदने का निर्णय लिया गया था। लेकिन जब तक आदेश पर अमल होता उनका यहां से तबादला हो गया। उनके बाद बी कार्तिकेय भागलपुर के डीएम बनाए गए थे। भागलपुर की प्रमंडलीय आयुक्त बंदना किनी का तबादला कर दिया गया है। उन्हें श्रम संसाधन विभाग का अपर मुख्य सचिव बनाया गया है। साथ ही कला संस्कृति एवं युवा विभाग के अपर सचिव का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।