भागलपुर [जेएनएन]। कावंरियां पथ पर भक्ति की रसधार बह रही है। भक्ति गीतों से पूरा मार्ग गूंज रहा है। धांधी-बेलारी कांवरियां पथ पर जिला प्रशासन के शिविर में पर्यटन विभाग की ओर से हर शाम बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत अपनी मधुर आवाज से कांवरियों का थकान दूर कर रहीं हैं।

उन्होंने एक के बाद एक कई बेहतरीन प्रस्तुति देकर कांवरियों का मन मोह लिया। भक्ति संध्या की शुरुआत गणेश वंदना से हुई। मंगल के दाता भगवन बिगड़ी बनाई जी गौरी के ललना हमरा अंगना में आई जी... गीत पर कांवरियां झूमते रहे। भोले शंकर की महिमा पर ओढ़ ला केसरिया चला हो सखिया, शिव बाबा के नगरिया चला हो सखिया...गीत ने समां बांध दिया। देखेला बेकल भइले जियरा, का ले के शिव के मनाई हो शिव मानत नाहीं, भांग धतूरा कहां पाई हो शिव मानत नाहीं, डिम डिम डमरू बजावे ला हमार जोगिया, बाबा बैजनाथ हम आयल छी भिखरिया... जैसे गीत प्रस्तुति कर शिव भक्तों का मन मोह लिया। गंगा गीत मांगी ला हम वरदान हे गंगा मैया मांगी ला हम वरदान, गंगोत्री से निकलल गंगा मैया, जग के करेला उद्धार और देवी गीत जय जय भैरवी भी प्रस्तुत किया जिस पर भक्तजन झूमते रहे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप