संवाद सूत्र, चंद्रमंडी (जमुई)। प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने आगामी 27 जनवरी को झारखंड और बिहार में एकदिवसीय बंद का आह्वान किया है। गिरीडीह जिला के पीरटांड़ इलाके में बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी ने पर्चा जारी कर कहा है कि भाकपा माओवादी के ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो कमेटी के सचिव और एक करोड़ के इनामी प्रशांत बोस उर्फ किशन दा और उनकी पत्नी शीला मरांडी को जल्द बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने को लेकर 21 जनवरी से 26 जनवरी तक प्रतिरोध दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है।

दोनों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध नहीं कराए जाने के खिलाफ 27 जनवरी को बिहार एवं झारखंड में एकदिवसीय बंद बुलाया गया है। बता दें कि 12 नवंबर को झारखंड के सरायकेला एवं पूर्वी स‍िंहभूम पुलिस तथा अर्धसैनिक बलों की संयुक्त टीम द्वारा चांडिल-कांड्रा टोल प्लाजा के पास से ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो के सचिव और एक करोड़ के इनामी प्रशांत बोस उर्फ किशन दा, उनकी पत्नी शीला मरांडी उर्फ शीला दी, बिरेन्द्र हांसदा उर्फ जितेन्द्र, राजू टुडू उर्फ निखिल उर्फ बाजु, कृष्णा बाहदा उर्फ हेवेन और गुरूचरण बोदरा को गिरफ्तार किया गया था।

इस दौरान पुलिस ने प्रशांत बोस और उनकी पत्नी शीला मरांडी के पास से चार मोबाइल, दो एसएसडी एक पेन ड्राइव 1.51 लाख रुपये सहित अन्य सामान को बरामद किया था। पर्चा में कहा गया है कि प्रशांत बोस उर्फ किशन दा एवं उनकी पत्नी शीला मरांडी दोनो साथियों का स्वास्थ्य खराब है। वे लोग कई गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। अस्वस्थ रहने के बाद भी दो माह से कठिन जेल यातना झेल रहे हैं। सरकार द्वारा मानव मूल्यों पर गौर करते हुए दोनों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराया जाना चाहिए था। लेकिन अब तक वैसा कुछ नहीं किया गया है।

बंद के बारे में जानकारी मिली है। जांड पड़ताल की जा रही है। पुलिस और सुरक्षाबल के जवान इलाके में सक्रिय हैं। नक्सलियों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। - ओंकार नाथ सिंह , एएसपी अभियान, जमुई।

Edited By: Dilip Kumar Shukla