लखीसराय [जेएनएन]। भाकपा कार्यकता मदन मोहन सिंह के अपहरण के विरोध में पीरी बाजार को लोगों ने मंगलवार को बंद रखा है। अभयपुर एवं कजरा रेलवे स्टेशन के बीच चौकरा रामपुर के समीप ग्रामीणों ने रेलवे लाइन को जाम कर दिया है। लोग रेल पटरी पर बैठ कर रेल यातायात बाधित कर दिया है। मदन मोहन सिंह पीरी बाजार थाना क्षेत्र के घोघी गांव के रहने वाले हैं उनका अपहरण शुक्रवार की रात अपराधियों ने उनके घर से कर लिया था। अपरहण नक्सली ने किया या अपराधी ने इसका खुलासा अब तक नहीं हो पा रहा है। शुरू में बात सामने आई थी कि फिरौती के लिए अपहरण हुआ है लेकिन उनके स्वजनों का कहना है कि अब तक फिरौती का कॉल नहीं आया है। मुंगेर के डीआइजी दो दिन वहां गए, बरामदगी का आश्वासन भी दिया लेकिन कोई सुराग नहीं मिला है।

24 घंटे में बरामदगी करने का आश्वासन

एएसपीअभियान पवन कुमार उपाध्याय के आश्वासन के बाद लोग रेलवे को जाम से मुक्त कर दिया है। मदन मोहन सिंह की बरामदगी की मांग को लेकर सीपीआइ ने अभयपुर स्टेशन के नीचे दुर्गा स्थान परिसर में धरना शुरू किया है। रेलवे जाम के कारण बांका-राजेंद्रनगर इंटरसिटी फंसी रही। करीब दो घंटे के बाद रेल परिचालन शुरू हो गया।

जांच को पहुंचे थे डीआइजी

पीरी बाजार थाना क्षेत्र के घोघी गांव से शुक्रवार की रात अपहृत भाकपा नेता मदन मोहन सिंह का कोई सुराग अभी तक नहीं मिल पाया है। हालांकि पुलिस का दावा है कि उन्हें अपहर्ता गिरोह का पता चल चुका है। मदन मोहन सिंह शीघ्र सकुशल बरामद कर लिए जाएंगे। इस मामले को लेकर मुंगेर के डीआइजी मनु महाराज ने सोमवार को लखीसराय जिला अतिथि गृह पहुंचकर पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार से से मामले में गहन समीक्षा की। उन्होंने अपहर्ताओं के चंगुल से भाकपा नेता को मुक्त कराने की रणनीति पर चर्चा की। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रंजन कुमार ने बताया कि मदन मोहन सिंह को अपहर्ताओं के चंगुल से छुड़ाने को लेकर तैयार की गई रणनीति से डीआइजी अवगत हुए। उन्होंने बताया कि सीपीआइ नेता को अपहर्ताओं के चंगुल से जल्द ही मुक्त करा लिया जाएगा। शुक्रवार की रात सशस्त्र अपराधियों ने मदन मोहन सिंह का अपहरण उनके घर से कर लिया था।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस