राज सिन्हा , जमालपुर (मुंगेर)। कोरोना के मामले जिले में कम हो गए हैं। कुछ दिनों पहले ही जिला कोरोना मुक्त घोषित किया गया है, वर्तमान में एक भी कोरोना के केस एक्टिव नहीं है। दूसरी लहर के बाद जमालपुर शहरी क्षेत्र में जून से लेकर अगस्त तक 152 लोगों की जान गई है, इसमें इसमें 92 पुरुष हैं और बाकी महिलाएं है। जमालपुर नगर परिषद के 36 वार्डों में पुरुषों की तुलना में महिलाओं की जान कम जा रही है। इस बात की सच्चाई नगर परिषद कार्यालय के मृत्य प्रमाण पत्र से सामने आई है।

औसतन तीन माह में एक पुरुष की मौत हर दिन हो रही है। शहरी क्षेत्र की आबादी एक लाख पांच हजार है। इसमें 56,151 हजार पुरुष और 48,954 महिलाएं हैं। कोरोना काल में मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वालों की संख्या में काफी कमी आई थी, लेकिन अब इसमें तेजी आ गई है। मृत्यु प्रमाण बनाने को लेकर लोगों में दिलचस्पी बढ़ गई है।

  • -36 वार्ड है नगर परिषद क्षेत्र में
  • -01 लााख पांच हजार है आबादी
  • -03 माह में 152 लोगों की गई जिंदगी

अगस्त माह में हर दिन तीन नन्हें मेहमानों का जन्म

जमालपुर नगर परिषद क्षेत्र में जन्म प्रमाण पत्र बनाने के लिए भी लोगों में उत्सुकता बढ़ी है, घर में आए नन्हें मेहमान का सर्टिफिकेट भी खूब बन रहे हैं। तीन माह के आंकड़े पर गौर करें तो सबसे ज्यादा जन्म प्रमाण पत्र अगस्त माह में 96 बना है। औसतन तीन नन्हें मेहमान का जन्म हुआ है। इसमें बेटियां और बेटे का जन्म अनुपात बराबर है, जबकि जुलाई माह में 47 और जून माह में 45 बच्चों का जन्म हुआ है। इसका जिक्र हम नहीं नगर परिषद में जन्म प्रमाण पत्र के लिए आए आवेदनों से हो रहा है।

जून में जन्म प्रमाण पत्र के लिए आवेदन

  • बेटियां -19
  • बेटा-28

जुलाई माह में

  • बेटियां-13
  • बेटा-32

अगस्त माह में

  • बेटियां-48
  • बेटा -48
  • कुल-96

जून माह में मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन

  • महिला-22
  • पुरुष-29

जुलाई माह में

  • महिला -16
  • पुरुष-30

अगस्त माह में

  • महिला-22
  • पुरुष-33

Edited By: Shivam Bajpai