पूर्णिया : सदर थाना क्षेत्र के हनुमानबाग निवासी मोबाइल दुकानदार बंटी कुमार (22) की गुरुवार रात को पत्थर से कूचकर हत्या कर दी गई। घटना से पहले किसी ने फोन कर उन्हें घर से बुलाया था। शुक्रवार सुबह को घर से कुछ दूर स्थित रेलवे ट्रैक के किनारे खून से लथपथ बंटी का शव बरामद किया गया। बंटी प्रभात कॉलोनी में मोबाइल फोन और कॉस्मेटिक्स की दुकान चलाता था।

इलाके के लोगों ने शव देखकर परिजन को मामले की सूचना दी। पहले लोगों ने रेल दुर्घटना में बंटी की मौत होने की आशंका जताई। बाद में शव और घटनास्थल देखकर पता चला कि ईंट-पत्थर से कूचकर युवक की हत्या की गई है। बंटी के सिर को रेल ट्रैक के स्लीपर पर भी पटका गया। मामले की सूचना पर सदर एवं केहाट थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल की जांच की। घटना से आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों ने हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भूतनाथ मंदिर के पास सड़क जाम कर आगजनी भी की। मौके पर मौजूद पुलिस ने लोगों को समझाकर शांत कराया। पुलिस ने बंटी के पिता किशुन राय के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर ली है। बंटी के मोबाइल फोन को भी जांच के लिए पुलिस ने जब्त कर लिया है। किशुन राय ने बताया कि बंटी रात में 10 बजे दुकान से घर आया था। कुछ देर में उसके मोबाइल फोन पर कॉल आया तो वह घर में खाना लगाने की बात कहकर तेज आवाज में बात करते हुए घर से बाहर निकल गया। इसके बाद घर के सभी लोग खाना खाकर सो गए। रात में एक बजे तक बंटी के नहीं लौटने पर परिजन उसकी खोजबीन के लिए निकले। उन्होंने बताया कि बंटी रेलवे ट्रैक के पास बैठकर किसी से फोन पर गाली-गलौज कर रहा था। परिजन को उसने कहा कि वह थोड़ी देर में वहां पहुंच रहा है। सुबह में बंटी का शव बरामद किया गया। घटनास्थल पर बंटी की चप्पलें बिखरी हुई थीं और चारों ओर ईंट-पत्थर बिखरे हुए थे। आशंका व्यक्त की जा रही है कि हत्यारों के साथ बंटी की मारपीट भी हुई है। बंटी के पिता ने बताया कि बंटी का किसी के साथ कोई झगड़ा नहीं था। उसके देर रात तक मोबाइल फोन पर बात करने से इस बात की आशंका व्यक्त की जा रही है कि बंटी किसी उलझन में था। बंटी के मोबाइल फोन की पड़ताल से हत्या का राज खुलने की आशंका व्यक्त की जा रही है। मामले में सदर थानाध्यक्ष भाई भरत कुमार ने बताया कि सभी ¨बदुओं पर मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही हत्यारा पुलिस की पकड़ में होगा।

Posted By: Jagran