भागलपुर [जेएनएन]। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपनी हेल्थ और फिटनेस पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे पाते हैं। फिट रहने के लिए वर्क आउट जरूरी होता है, मगर ऑफिस, काम के चक्कर में हम इसे भूल जाते हैं। ऐसे में युवा खुद को फिट रखने के लिए अपने स्मार्टफोन की मदद ले रहे हैं। इसके लिए ऑनलाइन कुछ ऐसे फिटनेस एप मौजूद हैं, जिनका इस्तेमाल आप अपने स्मार्टफोन में आसानी से कर सकते हैं। साथ ही, इनकी मदद से आप अपने फिटनेस को बरकार रखने के लिए भी काम कर सकते हैं।

काम करते हैं यह एप : कई ऐसे एप हैं, जिनमें से ज्यादा वर्कआउट दिए गए हैं। इसके साथ ही, इसमें आप मिनट के वर्कआउट से लेकर उससे ज्यादा समय तक का वर्कआउट कर सकते हैं। इनमें वर्कआउट करने के लिए सारे निर्देश दिए गए हैं, जिससे इन्हे बहुत ही आसानी से घर पर भी किया जा सकता है।

चैलेंज एक्सेप्ट कर रहें फिट : इस ऐप में आपको 7 महीनों तक हर रोज 7 मिनट का चैलेंज दिया जाएगा। जैसा कि आप वीडियो गेम्स में देखते हैं। इन चैलेंज को पूरा करने के लिए आपको सिर्फ एक कुर्सी, दीवार की जरुरत होगी। इसके अलावा, आपको इसमें 3 लाइफ मिलेंगे। अगर आप किसी दिन एक्सरसाइज करना भूल जाते हैं तो आप एक दिन की लाइफ खो देते हैं। ऐसे ही अगर आप पूरे महीने एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो आपने अपने वर्कआउट में जितनी भी प्रोग्रेस की है, वह जीरो हो जाती है।

वीडियो वाले एप : ऐसे ऐप में 500 तक वर्कआउट वीडियो होते हैं, जो अनुभवी ट्रेनर्स के द्वारा तैयार किए जाते हैं। इसमें आप मिनट से लेकर एक घंटे का वर्कआउट कर सकते हैं। इसके साथ ही, इसमें 20 अलग-अलग प्रोग्राम दिए गए हैं, जिसमें कार्डियों से लेकर योगा तक को शामिल किया गया है।

बड़े काम के हैं ये एप : फिटनेस ऐप आपको चार भागों में पर्सनल ट्रेनिंग प्रोग्राम मुहैया कराती है। इसमें आप बॉडीवेट मूव्स का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके अलावा, इसके द्वारा दिए गए साप्ताहिक न्यूटिशन प्लान आपको वर्कआउट के दौरान अपनी फिटनेस को बनाए रखने में मदद करती हैं।

योगा एप हैं बेहद लाभकारी : प्ले स्टोर में कई योगा एप मौजूद हैं। जिनकी मदद से आप आसानी से योगा पोजीशन को सीख सकते हैं। ऐप में कई अलग-अलग योगा प्रोग्राम भी दिए गए हैं। इसमें 50 क्लासेस उपलब्ध कराए गए हैं, जो 30 मिनट से कम हैं। इसमें आपकी जरुरत के मुताबिक अलग-अलग कैटेगरी बनाई गई है।

ये एप हैं पापुलर : फ्री लैटिक्स, नाइकी प्लस, डेली बर्न, डेली योगा, सेवन एप

छात्र राजेश श्रीवास्तव ने कहा कि फिटनेस एप के जरिए अपने रूटीन को बैलेंस करना आसान हो जाता है। इसमें रिकॉर्ड भी रहता है की आपने कितना वजन घटाया है, इससे सुविधा हो जाती है।

छात्र पियूष ने कहा कि फिटनेस एप में आप बहुत चीजों का रिकॉर्ड रख सकते हैं, यह सबसे अच्छी बात है। इसके जरिए डायट चार्ट भी फॉलो करना आसान हो गया है।

Posted By: Dilip Shukla