संवाद सहयोगी, मुंगेर/भागलपुर: गंगा के बढ़ते जलस्तर ने ट्रेनों की रफ्तार थाम दी है। जमालपुर-भागलपुर के बीच रेलवे पुल पर जलस्तर डेंजर जोन से पार कर चुका है। लिहाजा, ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया है। रेलवे ने सुपरफास्ट सहित आधा दर्जन ट्रेनों को रद कर दिया है। रद की गई ट्रेनों में आरक्षण करा चुके यात्रियों का पूरा रिफंड दिया गया। जमालपुर स्टेशन पर भागलपुर, साहिबगंज, मालदा जाने वाले यात्री फंस गए हैं। ऐसे में यात्रियों ने शोर-शराबा भी किया। कई यात्री निजी वाहन करके भागलपुर तक गए। मालदा डीआरएम भी बरियापुर-रतनपुर के बीच पुलियाें को देखने पहुंचे। टीम के साथ ट्राली से पुल से जलस्तर का जायजा लिया।

आज दूसरे रूट से जाएगी विक्रमिशला, एलटीटी सहित कई ट्रेनें: ट्रेन परिचालन बंद होने के कारण रेलवे ने कई ट्रेनों का रूट बदल दिया है। शनिवार को आनंद विहार टर्मिनल से चली विक्रमिशला एक्सप्रेस रविवार को किऊल-जसीडीह-बांका के रास्ते भागलपुर पहुंचेगी। एलटीटी एक्सप्रेस भी इसी रूट से जाएगी। गया-हावड़ा एक्सप्रेस झाझा-किऊल, डाउन फरक्का बरौनी-कटिहार के रास्ते परिचालन किया गया।

भागलपुर में हंगामा करते यात्री

कटिहार-बरौनी के रास्ते गई फरक्का एक्सप्रेस

मालदा-दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस अप और डाउन में बदले रूट कटिहार-बरौनी के रास्ते गई। अप में सुपर एक्सप्रेस को भागलपुर स्टेशन पर रोक दिया। सुपर एक्सप्रेस का खाली रैक किऊल के रास्ते हावड़ा के लिए रवाना किया गया।

  • -आज डाउन में विक्रमिशला एक्सप्रेस जसीडीह-बांका के रास्ते पहुंचेगी भागलपुर
  • -एलटीटी सुपरफास्ट बांका-जसीडीह होकर रविवार को जाएगी, फरक्का का भी रूट बदला
  • -ट्रेन शाट टर्मिनेट करने से परेशान रहे यात्री, जमालपुर से वाहन करके गए भागलपुर

मुंगेर में ट्रैक का जायजा लेने पहुंचे डीआरएम

आज जमालपुर से चलेगी दो इंटरसिटी

भागलपुर-दानापुर और मालदा-किऊल इंटरसिटी को जमालपुर में ही रोक दिया गया है। दोनों गाड़ियां रविवार को जमालपुर जंक्शन से ही दानापुर और किऊल के लिए चलेगी।

रेलवे ट्रैक तक पहुंचा गंगा का पानी


वाहन चालकों की चांदी

ट्रेन परिचालन बंद होने से यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। ऐसे में भागलपुर, सुल्तानगंज जाने वाले यात्री सड़क मार्ग से गए। कोई आटो रिजर्व करके गए तो कई चार पहिया। स्टेशन के टैक्सी स्टैंड वालों की चांदी रही। मनमाना किराया वसूल किया गया। लाचार होकर यात्री ज्यादा पैसा देकर जाना पड़ा।

Edited By: Shivam Bajpai